आंगनवाड़ी और आशा की महिलाओं के लिए बड़ी खबर!

कोरोना काल में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं और आशा वर्कर्स ने ड्यूटी के समय जान की जोखिम को देखते हुए भत्ता और बीमा कवर की मांग की थी।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के लिए खुशखबरी है। मोदी सरकार उन्हें बड़ा लाभ देने की घोषणा की है। इस घोषणा के अनुसार देश की 13 लाख से अधिक आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं और 11 लाख से अधिक सहायिकाओं को प्रधानमंत्री कल्याण योजना के तहत 50 लाख रुपए तक के बीमा का लाभ मिलेगा। इस बारे में केंद्रीय महिला व बाल विकास मंत्रालय ने सर्कुलर जारी किया है।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने की थी मांग
कोरोना संकट के दौरान आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं और आशा वर्कर्स ने ड्यूटी के समय जोखिम को देखते हुए भत्ता और बीमा कवर की मांग की थी। इसके साथ ही उन्होंने अपनी सेवा को स्थाई करने के लिए भी देशव्यापी हड़ताल की थी। उन्होंने कोरोना काल में ड्यूटी के दौरान अपनी जान की जोखिम का हवाला देते हुए कम वेतन की भी शिकायत की थी।कोरोना काल में ये महिलाएं  ग्रामीण और देश के दूर दराज इलाकों में कोरोना टीकाकरण अभियान को आगे बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही हैं।

ये भी पढ़ेंः गांधीनगर में कांग्रेस साफ, आप का खुला खाता… ऐसा रहा गांधीनगर मनपा का परिणाम

आशा वर्कर्स पर बड़ी जिम्मेदारी
आशा वर्कर्स किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या के लिए ग्रामीण इलाकों में रहने वाली महिलाओं के लिए संपर्क का पहला केंद्र है। इनकी वजह से ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं को स्वास्थ्य संबधी सेवा पाने में काफी मदद मिली है। खासकर गर्भवती महिलाओं की देखरेख और उनकी सुरक्षित प्रसुति में इन महिलाओं ने अहम योगदान किया है। इस कारण प्रसुति के दौरान महिलाओं और नवजात बच्चों की मौत के दर में काफी कमी आई है। आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं पर बच्चों के लिए सरकार के पोषण आहार कार्यक्रम चलाने की भी जिम्मेदारी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here