ट्रैवेल एडवाइजरी: भारत से ऑस्ट्रेलिया लौटे तो पांच साल की जेल और जुर्माना, अमेरिका ने भी लगाया प्रतिबंध

कोरोना के भयंकर संक्रमण से जूझ रहे भारत के साथ विश्व के कई देश खड़े हुए हैं। लेकिन इस बीच संक्रमण से अपने देश को बचाने के लिए अमेरिका समेत कई देशों के बाद अब ऑस्ट्रेलिया ने ट्रैवेल एडवाइजरी जारी की है।

भारत में बढ़ रहे कोविड 19 संक्रमण को देखते हुए ऑस्ट्रेलिया ने 14 दिनों से भारत में रहनेवाले अपने नागरिकों के आगमन पर रोक लगा दी है। ऐसे लोग यदि इसके बाद भी ऑस्ट्रेलिया लौटते हैं तो उन्हें पांच साल की सजा या जुर्माना या दोनों ही भुगतना पड़ेगा। इसके अलावा अमेरिका ने भी 4 मई से प्रतिबंध की घोषणा कर दी है।

ऑस्ट्रेलियाई स्वास्थ्य मंत्री ग्रेग हंट द्वारा जारी एक परिपत्र के अनुसार नेशनल कैबिनेट में भारत में कोविड 19 संक्रमण की स्थिति पर चर्चा हुई। इसमें भारत से आनेवालों पर रोक लगाने की सलाह दी गई है। यह रोक 3 मई की रात 12.01 बजे से लागू होगी। यह निर्णय भारत से लौटकर क्वारंटाइन में रहनेवाले उन यात्रियों पर मंडरा रहे कोविड 19 के खतरे का मूल्यांकन करने के बाद निर्णय लिया गया है।

ये भी पढ़ें – भगोड़े नीरव मोदी की भारत में कानूनी शिकंजे से बचने की अंतिम कोशिश!

इस प्रतिबंध का उल्लंघन करनेवाले को बायो सिक्योरिटी एक्ट 2015 के अनुसार पांच वर्ष की सजा और 300 पेनाल्टी युनिट्स भुगतना होगा। इस अस्थाई रोक पर मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी की सलाह के अनुसार 15 मई को सरकार पुन: मूल्यांकन करेगी। मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी भारत में महामारी के संक्रमण की स्थिति और ऑस्ट्रेलिया में क्वारंटाइन क्षमता का आंकलन करते हुए विशेषज्ञों की सलाह से सरकार को अवगत कराएंगे।

ऑस्ट्रेलियाई स्वास्थ्य मंत्री ग्रेग हंट ने कहा है कि,
हमारा दिल भारत के लोगों और हमारे भारतीय ऑस्ट्रेलियाई समुदाय का सम्मान करता है। ऑस्ट्रेलिया में रहनेवाले भारतीयों के परिवारजन और मित्र बड़े खतरे में हैं और उनमें से कई तो कोविड 19 से संक्रमित हो चुके हैं। यह दुख की बात है कि कई की तो मौत हो गई है।

इस परिपत्र में कहा गया है कि, भारत में पिछले सप्ताह से प्रतिदिन तीन लाख से अधिक कोरोना संक्रमित पाए जा रहे हैं। वहां कुल संक्रमितों की संख्या 19 मीलियन पहुंच रही है, और मरनेवालों का आंकड़ा 2 लाख पहुंच गया है।

ये भी पढ़ें – गुजरात के कोविड सेंटर में अग्नितांडवः 16 लोगों की मौत, कई घायल

वहीं अमेरिका ने भी 4 मई से भारत से लौटनेवालों पर प्रतिबंध की घोषणा कर दी है। व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जेन साकी ने बताया कि सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेन्सन की सलाह पर प्रशालन ने भारत से यात्रा पर तत्काल रोक लगा दी है। यह कोविड 19 के बढ़ते संक्रमण को लेकर किया गया निर्णय है। भारत में कई कोरोना के कई वेयिएंट मौजूद हैं।

इस घोषणा में कहा गया है कि, ऐसे लोग जो भारत में 14 दिनों से अधिका काल से रह रहे हैं, ऐसे गैर अप्रवासी और विदेशी नागरिकों के प्रवेश को रोका और प्रतिबंधित किया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here