बांग्लादेश में दुर्गा पूजा पंडालों में तोड़फोड़ पर भारत सरकार का बयान, “स्थिति पर हमारी नजर…!”

बांग्लादेश की कुल आबादी करीब 17 करोड़ है। इनमें 10 प्रतिशत हिंदू हैं। हाल के कुछ वर्षों में यहां हिंसा की छिटपुट घटनाएं होती रही हैं।

बांग्लादेश में कुछ कट्टरपंथियों द्वारा दुर्गा पूजा के पंडालों में हमला करने और कुछ मंदिरों को नुकसान पहुंचाने के मामले प्रकाश में आने के बाद भारत की मोदी सरकार सक्रिय हो गई है। इस बारे में प्रतिक्रिया देते हुए विदेश मंत्रालय ने कहा है कि भारतीय मिशन इन मामलों को लेकर लगातार बांग्लादेशी अथॉरिटी के संपर्क में है। विदेश मंत्रालय ने कहा कि पड़ोसी देश ने इन घटनाओं के बाद गंभीरता से कदम उठाए  हैं और स्थिति को कंट्रोल करने में सफलता प्राप्त की है।

स्थिति नियंत्रण मेंः विदेश मंत्रालय
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने इस बारे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में कहा कि हमने कुछ परेशान करने वाली खबरें देखी हैं। इनमें बांग्लादेश के कुछ धार्मिक स्थलों को निशाना बनाए जाने की बात सामने आई है। हमने यह नोटिस किया कि बांग्लादेश सरकार ने स्थिति को काबू में करने के लिए तुरंत जरुरी कदम उठाए। हम इस बात को भी समझते हैं कि बांग्लादेश में सरकारी एजेंसियों की तैनाती, सक्रियता और सहयोग से ही वहां दुर्गा पूजा का त्योहार हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है।

पंडालों और मंदिरो में तोड़-फोड़
बता दें कि बांग्लादेश में दुर्गा पूजा के दौरान कुछ कट्टरपंथियों ने हिंदुओं के मंदिरों को नुकसान पहुंचाया और कई मूर्तियां तोड़ दीं। हालात को काबू में करने के लिए 22 जिलों में अर्द्धसैनिक बलों को तैनात किया गया है। स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के अनुसार फायिरंग में चार लोग मारे गए हैं, जबकि कई घायल हो गए हैं।

22 जिलों में बीजीबी के जवान तैनात
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता के अनुसार बॉर्डर गार्ड्स बांग्लादेश यानी बीजीबी के सैनिकों को देशभर के 22 जिलों में तैनात किया गया है। प्रवक्ता ने बताया कि देश के 64 प्रशासनिक जिलों में से 22 में और अन्य स्थानों पर हिंसा रोकने के लिए बीजीबी के साथ ही अपराध रोधी रैपिड एक्शन बटालियन तथा सशस्त्र पुलिस बल को तैनात किया गया गया है।

ये भी पढ़ेंः उपराष्ट्रपति के अरुणाचल प्रदेश के दौरे पर चीन ने जताई आपत्ति! भारत ने दिया करारा जवाब

चार लोगों की मौत
मिली जानकारी के अनुसार 12 अक्टूबर को कमीला की सीमा से सटे चांदपुर के हाजीगंज उपजिले में पुलिस और मुस्लिम कट्टरपंथियों के बीच झड़प के दौरान तीन लोग मारे गए, वहीं एक घायल व्यक्ति की बाद में मौत हो गई। अधिकारियों ने हाजीगंज में रैलियों पर प्रतिबंध लगा दिया है। यहां गोली लगने से चार लोगों की मौत की पुष्टि की गई है। इस झड़प में कुछ अधिकारियों के भी घायल होने की खबर है। इस मामले में 43 लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया है।

10 प्रतिशत आबादी हिंदू
बता दें कि बांग्लादेश की कुल आबादी करीब 17 करोड़ है। इनमें 10 प्रतिशत हिंदू हैं। हाल के कुछ वर्षों में यहां हिंसा की छिटपुट घटनाएं होती रही हैं। बताया जाता है कि सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाए जाने के कारण इस तरह की घटनाएं बढ़ रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here