लंबे अंतराल के बाद भारत-भूटान सीमा पर दिखा खुशी का माहौल, यह है कारण

सीमा पर निर्भर रहने वाले दुकानदार, श्रमिक सीमा खुलने से काफी खुश हैं। भारत और भूटान के आवागमन शुरू होते ही सीमावर्ती इलाकों के व्यापारियों के चेहरों पर मुस्कान आ गई।

तीन साल के लंबे अंतराल के बाद 23 सितंबर को भारत और भूटान के मुख्य प्रवेश द्वार के खुल जाने के बाद सीमावर्ती इलाके के लोगों के बीच काफी खुशी का माहौल देखा गया। कोरोना महामारी के चलते भारत-भूटान सीमा पर चंदुबझांसा का मुख्य प्रवेश द्वार बंद कर दिया गया था। जिसके चलते सीमावर्ती इलाकों में व्यापार ठप हो गया था।

ये भी पढ़ें – बिहारः दो दिवसीय दौरे पर केंद्रीय गृहमंत्री शाह! जानिये, क्या है एजेंडा

भारत-भूटान में आवागमन शुरू
सीमा पर निर्भर रहने वाले दुकानदार, श्रमिक सीमा खुलने से काफी खुश हैं। भारत और भूटान के आवागमन शुरू होते ही सीमावर्ती इलाकों के व्यापारियों के चेहरों पर मुस्कान आ गई। तीन साल के बाद भारत-भूटान सीमा के प्रवेश द्वार पर बड़ी संख्या में भारत और भूटान से लोग पहुंचे हैं। भूटान से आने वाले विदेशी पर्यटकों का फूलाम गमछा पहनाकर भारतीय नागरिकों ने स्वागत किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here