अस्पताल बना काल: 11 ने खोए प्राण, 6 झुलसे… परिजनों को मिलेगी 5 लाख की आर्थिक सहायता

राज्य में अस्पतालों में आग लगने का क्रम मध्यम पड़ा था, परंतु टूटा नहीं है। अहमदनगर की दु:खद घटना ने सुरक्षा व्यवस्था को लेकर चौकन्ना कर दिया है।

महाराष्ट्र के अस्पताल में आग लगने की बड़ी घटना हुई है। जिसमें कोरोना वार्ड आईसीसीयू में भर्ती 11 रोगियों की मृत्यु हो गई है, 6 लोग इसमें झुलस गए हैं। यह दुर्घटना अहमदनगर के जिला अस्पताल में हुई है। सरकार ने घटना की जांच के आदेश दे दिये हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार आईसीसीयू के एयर कंडिशन में शॉर्ट सर्किट के कारण आग लगी है। सूत्रों के अनुसार जब आग लगी उस समय कोरोना वार्ड में 25 लोग भर्ती थे, इनमें से 11 की मौत हो गई है जबकि, 6 लोग झुलस गए हैं। आग लगने के बाद केंद्रीय मंत्री डॉ.भारती पवार ने अस्पताल का सर्वेक्षण किया। उन्होंने वहां उपचार ले रहे 6 झुलसे मरीजों की जानकारी भी प्राप्त की।

महाराष्ट्र सरकार के मंत्री नवाब मलिक ने कहा है कि ये आग अस्पताल के नए बने आईसीयू वार्ड में लगी थी। उन्होंने कहा कि, ये घटना गंभीर है, अस्पतालों को स्पष्ट आदेश दिया गया था कि वे अपने यहां फायर सेफ्टी ऑडिट कराएं, अब ये जांच की जाएगी कि इस अस्पताल ने फायर सेफ्टी ऑडिट करवाई थी या नहीं। अगर अस्पताल ने ऑडिट नहीं करवाया तो ये गंभीर घटना है।

ये भी पढ़ें – ये तो उत्तर भारतीयों से द्वेष… कृत्रिम तालाब निर्माण के खर्च पर विवाद

आर्थिक सहायता की घोषणा
राज्य सरकार की ओर से स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे में घोषणा की है कि दुर्घटना में मारे गए लोगों के परिजनों को 5 लाख रुपए की आर्थिक सहायता दी जाएगी। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भी अग्निकांड पर दुख व्यक्त किया है। इसके साथ सरकार की ओर से जिलाधिकारी को जांच के आदेश दिये गए हैं। सरकार की ओर से आश्वस्त किया गया है कि इस प्रकरण में जो भी दोषी होगा उस पर कार्रवाई की जाएगी।

इसे मराठी में पढ़ें – पुन्हा रुग्णालयाला आग! नगरमध्ये १० रुग्णांचा मृत्यू

प्रधानमंत्री ने व्यक्त की संवेदना
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अहमदनगर के अस्पताल में लगी आग पर दुख व्यक्त किया है। उन्होंने दुर्घटना में मारे गए 11 लोगों के परिवारों के प्रति संवेदन व्यक्त की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here