लॉकडाउन हटने के बाद रेलवे के आने लगे अच्छे दिन! राजस्व में इतने प्रतिशत की वृद्धि

रेलवे ने लॉकडाउन के बाद 2021-2022 की दूसरी तिमाही में राजस्व में 113 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की है। 2020-21 के दौरान कोरोना के कारण लॉकडाउन और पाबंदियों से रेलवे के राजस्व में कमी आई थी।

देश में लॉकडाउन हटने के बाद अब स्थिति धीरे-धीरे सामान्य हो रही है। इसका रेलवे को भी फायदा हुआ है। रेलवे ने लॉकडाउन के बाद 2021-2022 की दूसरी तिमाही में राजस्व में 113 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की है। 2020-21 के दौरान कोरोना के कारण लॉकडाउन और पाबंदियों से रेलवे के राजस्व में कमी आई थी। रेलवे अब तक कोविड से पहले चलने वाली 96 फीसदी ट्रेनों को पूर्ववत कर चुकी है। रेलवे ने कहा है कि जैसे-जैसे स्थिति में सुधार होगा, ट्रेनों के संचालन को और बढ़ाया जाएगा।

ये भी पढ़ेंः तमिलनाडु के बाद अब दूसरे राज्यों में भी उठने लगी राइट टु सिट की मांग! जानिये, क्या है यह अधिकार

इस तरह बढ़ रहा है राजस्व

-चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में रेलवे ने यात्री किराए से 4,921.11 करोड़ रुपये कमाए।

-दूसरी तिमाही में रेलवे का राजस्व 10,513.07 करोड़ रुपये रहा।

-दूसरी तिमाही पहली तिमाही की तुलना में कई प्रतिशत ज्यादा है।

-हालांकि कोरोना काल में रेलवे ने माल ढुलाई से राजस्व अर्जित किया।

-पिछले कुछ महीनों में रेलवे के माध्यम से माल ढुलाई की मात्रा में वृद्धि हुई है।

-सितंबर 2021 में रेलवे की माल ढुलाई पिछले साल के इसी महीने की तुलना में 3.62 फीसदी अधिक थी।

-रेलवे ने सितंबर में 106 मिलियन टन माल ढोया।

-पिछले साल इसी अवधि के दौरान यह 102.3 मिलियन टन था।

 -इस साल इसमें 3.62 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।

-भारतीय रेलवे भी संबंधित ग्राहकों को माल ढुलाई की सुविधा के लिए कई तरह की रियायतें दे रही है।

-इस दौरान भारतीय रेलवे ने माल ढुलाई से 10,815.73 करोड़ रुपये की कमाई की।

-यह पिछले साल के मुकाबले 9.19 फीसदी ज्यादा है।

-पिछले साल इसी अवधि में रेलवे ने 9,905.69 करोड़ रुपये की कमाई की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here