बच्चे के लिए देवदूत बन गया रेलवे कर्मचारी!

मुंबई लोकल के उपनगरीय स्टेशन वांगनी पर एक छोटा बच्चा नियंत्रण खोकर रेलवे ट्रैक पर जा गिरा। वह वहां से उठकर प्लेफॉर्म पर चढ़ने की कोशिश कर ही रहा था कि तेजी से एक ट्रेन उसी ट्रैक पर आती दिखी।

महारष्ट्र के उपनगरीय इलाका वांगणी रेलवे स्टेशन पर भारतीय रेलवे के एक कर्मचारी की सूझबूझ से एक बड़ी दुर्घटना टल गई। इस घटना में मुंबई लोकल के उपनगरीय स्टेशन वांगनी पर एक छोटा बच्चा नियंत्रण खोकर रेलवे ट्रैक पर जा गिरा। वह वहां से उठकर प्लेफॉर्म पर चढ़ने की कोशिश कर ही रहा था कि तेजी से एक ट्रेन उसी ट्रैक पर आती दिखी। बच्चे को बचाने के लिए रेलवे प्लेटफॉर्म पर कई लोग दौड़े लेकिन वे बच्चे तक पहुंचने में सफल होते नहीं दिख रहे थे। इसी बीच देवदूत बनकर भारतीय रेलवे का पॉइंटसमैन मयूर शेल्खे ट्रैक पर पहुंच गया और उसने बच्चे को जहां प्लेटफॉर्म पर चढ़ाया, वहीं खुद भी तेजी से ट्रैक से सुरक्षित बाहर निकल आया। चंद सेकेंड में घटी यह पूरी घटना किसी चमत्कार से कम नहीं थी।

खूब हो रही है प्रशंसा
रेलवे के पॉइंट्समैन मयूर शेल्खे ने अपनी सूझबूझ से  बच्चे को की जान बचाकर उसे जीवन दान दिया। घटना का यह वीडियो खूब वायरल हो रहा है और मयूर शेल्खे की प्रशंसा करते लोग थक नहीं रहे हैं।

ये भी पढ़ेंः नासिकः सैनिटाइजर बनाने वाली कंपनी में आग से अफरातफरी!

18 अप्रैल की घटना
रेलवे के अनुसार यह घटना 18 अप्रैल की दोपहर को घटी। बच्चा वांगणी रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म क्रमांक 2 पर जाते समय संतुलन खोकर ट्रैक पर जा गिरा था। लेकिन मयूर शेल्खे ने उसकी जान बचा ली।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here