कंगाल हो गया है अफगानिस्तान, ‘इतने’ प्रतिशत लोगों के रोटी के लाले

अफगानिस्तान में महिलाएं अपने भूखे बच्चों को नींद की दवा खिलाकर सुलाने को बेवश हैं, ताकि वे खाना न मांगें।

तालिबान शासित ‘अफगानिस्तान की आधी आबादी खाद्य असुरक्षा का सामना कर रही हैं। यहां की 95 प्रतिशत आबादी के पास खाने के लिए पर्याप्त भोजन ही नहीं है। इस देश में पांच से कम आयु के 10 लाख से अधिक बच्चे गंभीर कुपोषण का शिकार हो चुके हैं।’ यह आकलन संयुक्त राष्ट्र के विश्व खाद्य कार्यक्रम का है।

ह्यूमन राइट्स वॉच के एक्सपर्ट के मुताबिक 15 अगस्त 2021 से ही अफगानियों का जीवन नर्क जैसा हो गया है। ये देश दुनिया के सबसे खराब मानवीय संकट का सामना कर रहा है। लोग भूख से मर रहे हैं।

महिलाएं बच्चों को खिला रही हैं नींद की दवा
कुछ रिपोर्ट्स में कहा गया है कि हालात इस कदर खराब हैं कि महिलाएं अपने भूखे बच्चों को नींद की दवा खिलाकर सुलाने को बेवश हैं, ताकि वे खाना न मांगें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here