अब गोवा के सरकारी अस्पताल में 26 कोरोना मरीजों की मौत, स्वास्थ्य मंत्री ने कही ये बात

दिल्ली के बाद गोवा में ऑक्सीजन की कमी से 26 कोरोना मरीजों की मौत होने की बात कही जा रही है। यहां के स्वास्थ्य मंत्री ने इस मामले की जांच कराने की बात कही है।

गोवा के एक अस्पताल में 26 कोरोना मरीजों की मौत होने का मामला प्रकाश में आने के बाद हड़कंप मच गया है। गोवा के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे ने इस बारे में जानकारी दी है। उन्होंने कहा है कि 11 मई को गोवा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में कोरोना संक्रमित 26 मरीजों की मौत हो गई। उन्होंने मौत के सही कारणों के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए उच्च न्यायालय द्वारा मामले की जांच कराने की मांग की है। उन्होंने कहा कि इनकी मौत का कारण स्पष्ट नहीं है।

इससे पहले अस्पताल का दौरा करने के बाद गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने कहा था कि मेडिकल ऑक्सीजन की उपलब्धता और जीएमसीएच में कोविड वार्ड तक इसकी आपूर्ति में बाधा आने के कारण कुछ समस्याएं हुई हैं। उन्होंने कहा था कि अस्पताल में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है।

ये भी पढ़ेंः वो पांच मिनट संभल जाते तो बच जाती 11 जान! जानें क्या हुआ रात में कि निकला दम

स्वास्थ्य मंत्री ने स्वीकार की ऑक्सीजन की कमी
बाद में स्वास्थ्य मंत्री राणे ने पत्रकारों के समक्ष ऑक्सीजन की कमी को स्वीकार किया। उन्होंने कहा कि उच्च न्यायालय को मरीजों की मौत के कारण का पता लगाने के लिए जांच करानी चाहिए। राणे ने कहा कि 10 मई को यहां 1200 मेडिकल ऑक्सीजन की जरुरत थी, लेकिन मात्र 400 की आपूर्ति की गई।

ये भी पढ़ेंः महाराष्ट्र में 18-44 वालों के टीकाकरण पर रोक! स्वास्थ्य मंत्री ने कही ये बात

ऑक्सीजन की कमी पर होनी चाहिए थी चर्चा
राणे ने कहा कि अगर मेडिकल ऑक्सीजन की कमी है तो उस कमी को दूर करने के लिए चर्चा की जानी चाहिए। बता दें कि गोवा में अब तक कोरोना के कुल 1,21,650 मामले सामने आए हैं, जबकि संक्रमण से 1,729 लोगों की जान गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here