हिमाचल प्रदेश में ग्लेशियर के पास फंसे 16 पर्वतारोही, दो की मौत! बचाव कार्य में आ रही हैं मुश्किलें

हिमाचल प्रदेश में ग्लेशियर के पास 16 पर्वतारोही फंस गए हैं। इनमें से दो की मौत हो गई है।

हिमाचल प्रदेश के लाहौल स्पीति में ट्रेकिंग के लिए गए 16 लोगों का एक समूह खमीगर ग्लेशियर के पास फंस गया। लगातार हो रही बर्फबारी और ठंड के कारण यहां फंसे दो ट्रेकर्स की मौत हो गई। अन्य फंसे हुए ट्रेकर्स को बचाने के लिए बचाव अभियान शुरू किया गया है। इसके लिए लाहौल स्पीति जिला प्रशासन ने 32 सदस्यीय रेस्क्यू ग्रुप बनाया है।

32 की टीम में कौन है?
लाहौल स्पीति के जिला कलेक्टर नीरज कुमार के अनुसार, जिला प्रशासन ने खमीगर ग्लेशियर के पास फंसे 16 ट्रेकर्स को बचाने के लिए कार्य शुरू कर दिया है। स्पीति प्रशासन ने बताया कि 16 सदस्यों के समूह के दो सदस्यों की मौत हो गई है और उनके समूह के अन्य सदस्य ग्लेशियर के पास फंस गए। वहां से लौटे दो सदस्यों ने बताया कि उनमें से दो की मौत हो गई, जबकि 14 सदस्य फंसे हुए हैं। प्रशासन ने भारत-तिब्बत सीमा पुलिस के 16 जवानों समेत 32 लोगों की टीम बनाई है। इनमें छह डोगरा स्काउट और एक डॉक्टर भी शामिल हैं। साथ ही टीम में 10 लोगों को सामान ले जाने के लिए शामिल किया गया है।

हेलीकाप्टर मदद नहीं कर सकता
नीरज कुमार के अनुसार, पश्चिम बंगाल में इंडियन माउंटेनियरिंग फाउंडेशन के छह सदस्यों की एक टीम को बटाल से 15 सितंबर को काजल पहुंचना था। इन सभी पर्वतारोहियों को खमिंगर ग्लेशियर से होकर आना था। इन छह लोगों के साथ 10 लगेज कैरियर भी हैं। इस ग्लेशियर की ऊंचाई करीब 5 हजार 34 मीटर है। वे सभी इसी ग्लेशियर के पास फंस गए हैं। बचाव दल को पीड़ितों तक पहुंचने में तीन दिन लगेंगे। हेलीकॉप्टर से बचाने की बात चल रही थी। लेकिन चूंकि यह बहुत दुर्गम क्षेत्र है, इसलिए यहां हेलीकॉप्टर से पहुंचना संभव नहीं है। इसलिए 32 लोगों का एक ग्रुप बनाया गया है।

इनकी मौत
मृतकों की पहचान कोलकाता के आनंदपुर बैरकपुर निवासी 61 वर्षीय भास्कर देव मुखोपाध्याय और 38 वर्षीय संदीप कुमार ठाकुरता के रूप में हुई है। फंसे लोगों की पहचान 58 वर्षीय देबाशीष बर्धन, 63 वर्षीय रणधीर राय, तापस कुमार दास 50, चित्तरंजन बर्धमान और 42 वर्षीय अतुल के रूप में हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here