विरार के अस्पताल में अग्नितांडव, 13 मरीजों की मौत,6 घायल

विरार के चार मंजिला विजय वल्लभ अस्पतल के दूसरे माले पर 23 अप्रैल की सुबह आग लग गई। इस घटना में 13 मरीजों की मौत हो गई, जबकि 6 मरीज  घायल हो गए हैं।

मुंबई से सटे उपनगर विरार के अस्पताल में अग्नितांडव में 13 मरीजों की मौत हो गई है, जबकि 6 घायल हो गए हैं। घायलों को दूसरे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इनमें से कुछ की हालत गंभीर बताई जा रही है।

विरार के चार मंजिला वल्लभ अस्पतल के दूसरे माले पर 23 अप्रैल की सुबह लगभग 5.20 बजे यह आग लगी। इस आग में 13 मरीजों की मौत हो गई, जबकि 6 मरीज  घायल हो गए हैं। उन्हें दूसरे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहां उनका उपचार किया जा रहा है।

आईसीयू में लगी आग
यह आग अस्पताल के आईसीयू में लगी। दमकल विभाग के कर्मचारियों ने पानी के कई टैंकरों की मदद से आग पर नियंत्रण पाया। घटनास्थल पर पुलिस के साथ ही फायर विभाग के अधिकारी भी मौजीद थे। आग बुझाने में स्थानीय लोगों ने भी मदद की।

ये भी पढ़ेंः अब नागपुर के कोविड अस्पताल में अग्नितांडव, चार की गई जान

एसी में शॉर्ट सर्किट के कारण आग लगी
यह कोविड अस्पताल था और यहां कोरोना मरीजों को भर्ती कराया गया था। अस्पताल में आग लगने के समय 15 मरीज आईसीयू में भर्ती थे। माना जा रहा है कि एसी में शॉर्ट सर्किट के कारण यह आग लगी। अस्पताल का आईसीयू दूसरे माले पर था।

अस्पताल के सीईओ ने दी जानकारी
अस्पताल के सीईओ दिलीप शाह ने बताया कि इस घटना में 13 लोगों की मौत हुई है। उन्होंने कहा कि अस्पातल में लगभग 90 मरीज भर्ती थे। उन्हें दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किया गया है। शाह ने बताया कि आईसीयू से कुछ आग जैसा गिरा और चंद मिनटों में ही आग ने गंभीर रुप धारण कर लिया। उन्होंने दावा किया कि अस्पताल में फायर सेफ्टी है। सीईओ ने दावा किया कि रात में अस्पताल में डॉक्टर मौजूद थे। हालांकि आग लगने के समय अस्पताल में मौजूद स्टाफ के बारे में वे नहीं बता सके।

आग पर नियंत्रण
अस्पताल में लगी आग पर नियंत्रण पाने की लिए वसई विरार महानगर पालिका के दमकल विभाग की कई गाड़ियों का इस्तेमाल किया गया। एक मरीज के परिजन ने दावा किया कि एसी में शॉर्ट सर्किट के कारण आग लगी। इस अग्नितांडव में मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका जताई जा रही है।

आग लगने की घटनाएं बढ़ीं
इससे पहले मुंबई के दहिसर स्थित कोविड सेंटर में आग लग गई थी। इस घटना में अच्छी बात यह रही थी कि कोई जनहानि नहीं हुई थी। इससे पहले भांडूप के ड्रीम्स मॉल में स्थित कोविड अस्पताल में भी भीषण आग लग गई थी। इस अग्नितांडव में 10 मरीजों की मौत हो गी थी।

महाराष्ट्र सरकार देगी 5-5 लाख की मदद
महाराष्ट सरकार में मंत्री एकनाथ शिंदे ने इस घटना पर दुख व्यक्त करते हुए कहा है कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपए की मदद की घोषणा की है।

पीएमएनआरएफ से मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपए की मदद
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस अस्पताल में आग लगने के कारण जान गंवाने वालों के परिजनों को पीएमएनआरएफ से 2 लाख और गंभीर रूप से घायल लोगों को 50,000 रुपए दिए जाने की घोषणा की है।

जेपी नड्डा ने दुख व्यक्त किया
इस दुर्घटना पर भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने दुख व्यक्त किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here