वो बनी पहली लेफ्टिनेन्ट और माता पिता ने गोद में भर लिया

वंशिका पांडे को भारतीय थल सेना में छत्तीसगढ़ की प्रथम महिला लेफ्टिनेंट बनने का गौरव प्राप्त हुआ। राजनांदगांव में पली-बढ़ी वंशिका पांडे को 30 जुलाई को चेन्नई स्थित प्रशिक्षण अकादमी की पासिंग आउट परेड में लेफ्टिनेंट की पदवी से विभूषित किया गया। राष्ट्र धर्म की शपथ लेनेवाली वंशिका के माता पिता ने उसे गोद में भर लिया।

राजनांदगांव शहर के जूनीहटरी की वंशिका पांडे मेधावी छात्रा रही हैं। वंशिका ने एसएसबी परीक्षा पास करने के बाद सेना में 11 महीने के टॉप ट्रेनिंग पूरी की और अब लेफ्टिनेंट बन गई हैं। पास आउट परेड के बाद अपने शहर लौटी वंशिका का स्वागत पूरे शहर ने किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here