ऐसे ठोके गए भाजपा नेता के घर पर हमला करने वाले तीन आतंकवादी!

पुलवामा में सुरक्षाबलों को बड़ी सफलता मिली है। यहां मुठभेड़ में तीन आतंकवादी मारे गए हैं।

जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच हुई मुठभेड़ में तीन आतंकवादियों को ठोक दिया गया है। सुरक्षाबलों के लिए यह एक बड़ी सफलता मानी जा रही है। पुलिस और सेना के संयुक्त ऑपरेशन में ये आतंकवादी मारे गए।

कश्मीर जोन के एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलवामा के काकापोरा क्षेत्र में मुठभेड़ में तीन आतंकवादी मार गिराए गए हैं। मिली जानकारी के अनुसार रात से ही यह मुठभेड़ जारी थी और 2 अप्रैल की सुबह तीनों आतंकियों को ढेर कर दिया गया।

खतरनाक हथियार बरामद
बताया जा रहा है कि इन आतंकवादियों ने भारतीय जनता पार्टी के नेता अनवर खान के घर पर हमला करने का षड्यमंत्र रचा था। सुरक्षाबल ने इनके पास से कई खतरनाक हथियार बरामद किए हैं। उनमें एके-47 भी शामिल है।

ये भी पढ़ेंः 370 हटाए जाने के बाद जम्मू-कश्मीर में ऐसे टूटी आतंकवाद की कमर!

भाजपा नेता घर पर किया था हमला
इससे पहले आतंकवादियों ने 1अप्रैल को श्रीनगर के नवगाम में भाजपा नेता अनवर खान के घर को निशाना बनाया था। इसमें एक गार्ड की मौत हो गई थी। श्रीनगर के एसएसपी संदीप चौधरी ने बताया कि रमीज अहमद नाम का गार्ड गंभीर रुप से घायल हो गया था, बाद में उसकी मौत हो गई थी। इस हमले के तत्काल बाद सुरक्षाबल के जवानों ने सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया था।

केंद्र शासित प्रदेश में 200 आतंकवादी सक्रिय
बता दें कि जम्मू कश्मीर के पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने कुछ दिनों पहले ही कहा था कि इस केंद्र शासित प्रदेश में 200 से ज्यादा आतंकवादी सक्रिय हैं, जबकि करीब 300 आतंकी पाकिस्तान की ओर से सीमा पर घुसपैठ के लिए तैयार हैं। सिंह ने कहा था कि पाकिस्तान की ओर से जम्मू-कश्मीर में अशांति फैलाने की कोशिश लगातार जारी है और आतंकियों की घुसपैठ भी उसी का एक हिस्सा है। लेकिन हम उसके मंसूबो को असफल करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।
जम्मू में पुलिस हेड क्वार्टर में आयोजित खेल प्रतियोगिता के उद्घाटन के दौरान डीजीपी ने कहा था कि 28 जून से शुरू होने वाली अमरनाथ यात्रा को लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।

आतंवाद में कमी
पिछले कुछ वर्षों में आतंकवाद को लेकर सरकार की स्पष्ट नीति और उठाए गए कठोर कदम तथा सुरक्षा बलों की मुस्तैदी के साथ ही आधुनिक हथियार तथा तकनीक के इस्तेमाल की वजह से देश में आतंकवाद पर काफी हद तक लगाम लगाने में सफलता मिली है। इसके बावजूद खतरा हमेशा बना रहता है क्योंकि मौका पाते ही आतंकवादी अपने नापाक इरादे को अंजाम देने की साजिश रच डालते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here