एलएसी के पास सेना का अभ्यास और बंकर का निर्माण! आखिर चीन चाहता क्या है?

पूर्वी लद्दाख की वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास चीन की सेना अभ्यास करने पहुंच गई है। इसके साथ ही वे वहां बैंकर भी बना रहे हैं।

चालबाज चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। पूर्वी लद्दाख की वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास उसकी सेना अभ्यास करने पहुंच गई है। इसके साथ ही वे वहां बंकर भी बना रहे हैं। उनकी इन गतिविधियों से भारत  एक बार फिर सतर्क हो गया है। भारतीय सेना के साथ ही रक्षा मंत्रालय भी चीन की इन गतिविधियों पर पैनी नजर रखे हुए है।

बता दें कि पिछले साल भी पूर्वी लद्दाख में एलएसी के पास चीन ने चालबाजी शुरू कर दी थी। हालांकि कई दौर की वार्ता के बाद चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) समझौते के तहत कई क्षेत्रों से डिस-एंगेजमेंट के लिए राजी हुई थी लेकिन एक बार फिर सीमा के पास उसकी हरकतों ने भारत को चौकस कर दिया है।

भारतीय सेना अलर्ट
चीनी सेना पूर्वी लद्दाख के गहराई वाले क्षेत्रों में अपनी ओर सैन्य अभ्यास कर रही है। इस अभ्यास को देखते हुए भारतीय सेना पूरी तरह से अलर्ट हो गई है और उसकी किसी भी गतिविधियों का जवाब देने के लिए तैयार है।

ये भी पढ़ेंः अग्रिम जमानत की याचिका भी खारिज! अब क्या करेंगे पहलवान सुशील कुमार?

क्या कहते हैं जानकार?
जानकारों का कहना है कि चीनी कई वर्षों से इन इलाकों में आ रहे हैं। खास कर गर्मियों में वे यहां अभ्यास करते हैं। पिछले वर्ष ऐसे ही अभ्यास के बहाने वे पूर्वी लद्दाख की ओर आक्रामक रुप से चले आए थे। लेकिन वे फिलहाल अपने क्षेत्र में हैं और कुछ स्थानों पर वे 100 किलोमीटर दूर हैं।

अन्य क्षेत्रों से सेना वापस बुलाने पर चर्चा
बता दें कि पैंगोंग लेक के पास से दोनों देश की सेनाओं के वापस चले जाने के बाद अन्य विवादास्पद क्षेत्र हॉट स्प्रिंग, गोगरा हाइट्स और देपसांग में भी डिस-एंगेजमेंट की बात चल रही है। ऐसे समय में चीन की ये हरकत उसके असली मंसूबे को दर्शाती है। इस बीच वहां मोर्चे पर तैनात भारतीय सुरक्षाबलों के वरिष्ठ अधिकारियों ने हाल ही में सुरक्षा की स्थिति की समीक्षा की है। वे चीनी सेना की हरकतों पर पैनी नजर रखे हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here