महाराष्ट्र में भी बढ़ा कोरोना का खतरा, शिंदे सरकार ने लिया ये निर्णय

महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि राज्य में कोरोना की निगरानी के लिए टास्क फोर्स का गठन किया जाएगा। यह जानकारी देवेंद्र फडणवीस ने 21 दिसंबर को नागपुर में विधानसभा में दी है। उन्होंने कहा कि कोरोना को लेकर केंद्र सरकार की जो भी गाइडलाइन रहेगी, राज्य सरकार उसका पालन करेगी।

इस मामले में राज्य के स्वास्थ्य सचिव संजय खंडारे ने कहा कि कोरोना के नमूने पुणे और मुंबई की प्रयोगशालाओं में जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे जाएंगे। इस समय राज्य में औसतन हर दिन कोरोना के 100 पॉजिटिव केस मिल रहे हैं। इन सभी का जीनोम परीक्षण कराया जाएगा। महाराष्ट्र सरकार कोरोना की निगरानी के लिए टास्कफोर्स का गठन कर रही है। इसके सुझाव के बाद एयरपोर्ट व बस व रेलवे स्टेशनों पर कोरोना टेस्ट करने का निर्णय लिया जाएगा।

जल्द तय किए जाएंगे कोरोना रोधी नियम
खंडारे ने कहा कि जीनोम सीक्वेंसिंग के नतीजों और केंद्र सरकार के निर्देशों के आधार पर हम महाराष्ट्र के लिए कोरोना नियम तय करेंगे। अभी बड़े पैमाने पर कोविट टेस्ट की कोई योजना नहीं है। महाराष्ट्र में कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए सूबे का स्वास्थ्य तंत्र पूरी तरह से तैयार है। जरूरत पड़ने पर कोरोना से संबंधित सभी चिकित्सा व्यवस्थाएं सक्रिय की जाएंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here