राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार की सुरक्षा में सेंध, नप गए तीन कमांडो

अजीत डोभाल देश के पांचवे सुरक्षा सलाहकार रहैं। वे केरल कैडर के आईपीएस अधिकारी थे, जिन्होंने इंटेलिजेन्स ब्यूरो में लंबी सेवा दी है।

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के घर में घुसपैठ का प्रयत्न करनेवाले प्रकरण में जांच के बाद कार्रवाई हो गई है। इस प्रकरण में सुरक्षा ड्यूटी पर तैनात तीन कमांडो की बर्खास्त कर दिया गया है। यह प्रकरण 16 फरवरी, 2022 को घटित हुआ था।

अजीत डोभाल राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) हैं, वे निरंतर आतंकी संगठनों के निशाने पर रहे हैं। इसके लिए सरकार ने उन्हें जेड प्लस स्तर की सुरक्षा दी है। इसके बाद भी 16 फरवरी, 2022 को एक व्यक्ति ने अजीत डोभाल के नई दिल्ली स्थित बंगले में प्रवेश की कोशिश की थी। उस समय डोभाल अपने बंगले में ही मौजूद थे। समय सबेरे लगभग 7.30 बजे का था, जब लाल रंग की एसयूवी गाड़ी लेकर आरोपित ने अचानक एनएसए के घर में घुसने की कोशिश की। गेट पर मौजूद सीआईएसएफ के जवानों ने आरोपित को तुरंत काबू कर लिया। उसकी व कार की तलाशी लेने के बाद करीब 7.35 बजे मामले की सूचना पुलिस को दे दी गई। इस प्रकरण की जांच के बाद अब कार्रवाई की गई है। जिसमें सुरक्षा में तैनात तीन कमांडो को बर्खास्त कर दिया है, जबकि, तत्कालीन डीआईजी और कमांडेन्ट ता स्तानांतरण कर दिया गया है।

ये भी पढ़ें – भाजपा में घटा गडकरी- चौहान का कद, संसदीय बोर्ड में नहीं मिली जगह, येदियुरप्पा सहित इन नेताओं की एंट्री

चुस्त सुरक्षा में एनएसए
एनएसए अजीत डोभाल को जेड प्लस सुरक्षा प्राप्त है। उनके साथ और घर पर केंद्रीय औद्योगिक बल (सीआईएसएफ) की सुरक्षा रहती है। इसके अंतर्गत चौबीसो घंटे 58 कमांडो तैनात होते हैं। जिसमें 10 अर्म्ड स्टैटिक गार्ड, 6 पीएसओ, 24 जवान, 5 वॉचर्स का समावेश है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here