यास का खौफः मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में शाह ने दी ये सलाह

यास के मद्देनजर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कई राज्यों के सीएम के साथ वर्चुअल बैठक की। बैठक के दौरान शाह ने कहा कि यास का ज्यादा प्रभाव पूर्वी तट पर पड़ने की संभावना है।

पश्चिम बंगाल और ओडिशा में चक्रवात यास के खतरे को देखते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कई राज्यों के सीएम के साथ वर्चुअल बैठक की। बैठक के दौरान शाह ने कहा कि यास का ज्यादा प्रभाव पूर्वी तट पर पड़ने की संभावना जताई जा रही है। इन तटों के 24 ऑक्सीजन संयत्रों से देश भर मे चिकत्सीय गैस आपूर्ति की जा रही है।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि देश में कोरोना संकट को देखते हुए ऑक्सीजन आपूर्ति को लेकर जरुरी कदम उठाए जा रहे हैं। बैठक मे पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के साथ ही आंध्र प्रदेश के सीएम जगमोहन रेड्डी व अंडमान निकोबार के उपराज्यपाल डीके जोशी भी शामिल हुए।

 

ये भी पढ़ेंः किसान यूनियन आंदोलन: तो क्या भीड़ का इंसाफ चाहते हैं नेता?

26 जनवरी को तट से टकराने का अनुमान
बता दें कि 26 जनवरी को यास के बंगाल और ओडिशा के तट से टकराने की संभावना है। इसे देखते हुए आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि चक्रवात की सीमा में आने वाले राज्यों को आवश्यक निर्देश दिए गए हैं।

दी ये सलाह

  • चक्रवात के प्रभाव में आने वाले राज्यों में पावर बैकअप रखना होगा।
  • इन राज्यों को ऑक्सीजन और कोरोना की दवाओं का भी बफर स्टॉक रखना होगा।
  • मौसम विभाग के साथ मिलकर चक्रवात की जानकारी लेनी होगी।

युद्ध स्तर पर तैयारी
पश्चिम बंगाल और ओडिशा पर यास का ज्यादा प्रभाव पड़ने की आशंका के मद्देनजर यहां तैयारियां जोरों पर की जा रही हैं। राज्य के आला अधिकारी तटीय क्षेत्रों का हवाई सर्वे कर रहे हैं। 23 मई की सुबह लो-डिप्रेशन एरिया में चक्रवात बनने की जानकारी मिली है। इस कारण 25 मई को बंगाल के उत्तरी और दक्षिणी मिदनापुर, उत्तर और दक्षिण 24 परगना, हुगली, हावड़ा में भारी बारिश होगी। 26 मई को यह और विनाशकारी होकर बंगाल की खाड़ी, उत्तरी ओडिशा तथा बांग्लादेश तट पार करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here