जानिये, क्या है शॉक बैटन, जिससे चिंगारी निकलते ही भाग खड़े होंगे उपद्रवी!

सीएपीएफ को भेजे गए एक पत्र में बताया गया है कि शॉक बैटन का इस्तेमाल सीएपीएफ के जवान उपद्रवियों से अपनी रक्षा करने और निपटने में करेंगे।

कानून-व्यवस्था को बनाए रखने के लिए तैनात किए जाने वाले केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल यानी सीएपीएफ को कई बार भीड़ के कारण भारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इसे देखते हुए उन्हें जल्द ही शॉक बैटन के इस्तेमाल की मंजूरी दी जा सकती है। इसके परीक्षण और परिणाम के ब्योरे की जानकारी गृह मंत्रालय ने मांगी है।

सीएपीएफ को भेजे गए एक पत्र में बताया गया है कि इन बैटन का इस्तेमाल सीएपीएफ के जवान उपद्रवियों से अपनी रक्षा करने और निपटने में करेंगे।

पत्र भेजकर दी गई जानकारी
सीएपीएफ को भेजए गए पत्र में दिए गए ब्योरे के अनुसार हाथ में पकड़े जाने वाला यह उपकरण बैटरी चालित होगा और इसका वजन एक किलोग्राम तथा लंबाई 450 से लेकर 700 मिलीमीटर तक होगी। यह सामान्य तापमान के साथ ही -20 से -30 डिग्री सेल्सियस तक के तापमान पर भी काम कर सकता है।

चिंगारी निकलते ही भाग खड़े होंगे उपद्रवी
उपद्रवियों के खिलाफ इस्तेमाल के समय इसके सिरे पर बिजली की चिंगारी निकलेगी और उपद्रवी शॉक लगने से उछल पड़ेगा हालांकि उसे कोई नुकसान नहीं होगा लेकिन वह डरकर भाग खड़ा होगा और उसे देखकर अन्य उपद्रवी भी भाग जाएंगे। इससे त्वचा को भी किसी तरह का नुकसान नहीं होगा। बैटरी से चलने वाले इस यंत्र को कहीं भी चार्ज किया जा सकेगा।

ये भी पढ़ेंः घाटी में फिर घुसपैठ की फिराक में पाकिस्तान! जानें, 24 घंटे में की गईं कितनी कोशिशें नाकाम

एनएबीएल द्वारा किया जाएगा प्रमाणित
गृह मंत्रालय ने बताया है कि यह उपकरण नेशनल एक्रीडिटेशन बोर्ड फॉर टेस्टिंग एंड कैलिब्रेशन यानी एनएबीएल से प्रमाणित होगा। प्रदर्शन या उपद्रव के दौरान सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए सीएपीएफ के जवान इस शॉक बैटन का इस्तेमाल कर सकेंगे। इन बैटन के परीक्षण के परिणाम को गृह मंत्रालय की वेबसाइट पर अपलोड किया जाएगा।

…….

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here