जम्मू-कश्मीरः लश्कर कमांडर समेत दो आतंकी ऐसे किए गए ढेर

जम्मू-कश्मीर के पारिमपोरा में 28 जून से चल रही मुठभेड़ में सुरक्षाबलो को बड़ी सफलता हाथ लगी और दो आतंकी ढेर कर दिए गए। इनमें से एक पाकिस्तानी आंतकवादी और लश्कर-ए-तैयबा का टॉप कमांडर अबरार भी शामिल है।

जम्मू-कश्मीर में शांति बहाली और विधानसभा चुनाव की ओर कदम बढ़ते ही पाकिस्तान और उसके समर्थक आतंकवादी पहले की अपेक्षा ज्यादा सक्रिय हो गए हैं। वे देश की सीमाई क्षेत्रों में आतंकी कार्रवाई बढ़ाने की साजिश रच रहे हैं। जम्मू के वायुसेना एयर फोर्स बेस पर विस्फोट कराने और कश्मीर में विशेष पुलिस अधिकारी तथा उनकी पत्नी की हत्या व बेटी को घायल करने के बाद वे अब अन्य तरह की आतंकी गतिविधियों को बढ़ाने की फिराक में जुटे हैं। भारत के सुरक्षाबलों ने भी उनकी गतिविधियों पर नजर रखने में पहले की अपेक्षा ज्यादा सावधानी बरतनी शुरू कर दी है। इसी क्रम में जम्मू-कश्मीर के पारिमपोरा में 28 जून से चल रही मुठभेड़ में सुरक्षाबलो को बड़ी सफलता हाथ लगी और दो आतंकी ढेर कर दिए गए। इनमें से एक पाकिस्तानी आंतकवादी और लश्कर-ए-तैयबा का टॉप कमांडर नदीम अबरार भी शामिल है।

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों ने कई हमलों में शामिल लश्कर-ए-तैयबा के कमांडर नदीम अबरार को मार गिराया है। आईजीपी विजय कुमार ने बताया कि सुरक्षाबलों ने श्रीनगर के मलूरा क्षेत्र में हुई मुठभेड़ में पाकिस्तानी आंकवादी अबरार को ढेर कर दिया है।

गुप्त सूचना मिलने पर हुई कार्रवाई
28 जून को सुरक्षाबलों को गुप्त जानकारी मिली थी कि आतंकवादी हाईवे पर किसी बड़े हमले को अंजाम देने की साजिश रच रहे हैं। इसके बाद जम्मू-कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ की संयुक्त टीम ने हाईवे पर नाकेबंदी कर दी। आईजीपी विजय कुमार ने बताया कि इस दौरान पारिमपोरा नाके पर एक गाड़ी को रोका गया। तभी उसमें पीछे की सीट पर बैठे व्यक्ति ने अपना बैग खोलकर ग्रेनेड निकाल लिया। इसके बाद सुरक्षाबल के जवान हरकत में आ गए और उस व्यक्ति को पकड़ लिया। बाद में ड्राइवर और उस व्यक्ति को पुलिस थाने लाया गया। नकाब उतारने के बाद उसकी पहचान आतंकवादी नदीम अबरार के रुप में हुई।

ये भी पढ़ेंः जम्मू-कश्मीर में शांति बहाली होते देख हताश हुए आतंकी! अब पुलवामा में किया ऐसा

आतंकवादियों ने शुरू कर दी फायरिंग
पूछताछ में अबरार ने बताया कि उसने अपनी एके-47 राइफल एक घर में रखी है। जब सुरक्षा बल के जवान हथियार बरामद करने के लिए घर में घुस रहे थे, तो वहां छिपे आतंकियों ने गोलीबारी शुरू कर दी। उसके बाद सुरक्षा बल के जवानों ने जवाबी कार्रवाई शुरू कर दी। इस बीच अबरार और ड्राइवर ने भागने की कोशिश की। गोलीबारी में दोनों मारे गए। इसके साथ ही जिस घर से गोलीबारी की जा रही थी, उसे उड़ा दिया गया। पुलिस के अनुसार अबरार इस साल लावायपोरा में सेंट्र्ल पुलिस फोर्स के तीन जवानों की हुई हत्या में भी शामिल था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here