भारतीय वायु सेना ने 16 हजार फीट से अधिक ऊंचाई पर फंसे इजरायली नागरिक को ऐसे बचाया

श्रीनगर स्थित एक रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि 31 अगस्त को 114 हेलीकॉप्टर यूनिट को मरखा घाटी के पास निमालिंग कैंप से हताहत को निकालने के लिए एक कॉल आया।

भारतीय वायु सेना ने 31 अगस्त को लद्दाख में मरखा घाटी के पास 16 हजार फीट से अधिक की ऊंचाई पर फंसे एक इजरायली नागरिक को बचाया।

श्रीनगर स्थित एक रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि 31 अगस्त को 114 हेलीकॉप्टर यूनिट को मरखा घाटी के पास निमालिंग कैंप से हताहत को निकालने के लिए एक कॉल आया। इजराइली नागरिक अतर खाना उल्टी और कम ऑक्सीजन संतृप्ति सहित उच्च ऊंचाई की बीमारी से पीड़ित था। उन्होंने कहा कि विंग कमांडर आशीष कपूर और फ्लाइट लेफ्टिनेंट रिदम मेहरा एयरक्रू नंबर 1 के रूप में और स्क्वाड्रन लीडर नेहा सिंह और स्क्वाड्रन लीडर अजिंक्य खेर एयरक्रू नंबर 2 के रूप में इस महत्वपूर्ण मिशन के लिए निकले।

यह भी पढ़ें – जर्मन राजदूत ने एलएसी और अरुणाचल पर ऐसा क्या कह दिया कि चालबाज चीन हो गया आग बबूला

ऐसे बचाया गया इजरायली नागरिक
प्रवक्ता ने कहा, ‘सबसे छोटे मार्ग का अनुसरण करते हुए विमान उड़ान के 20 मिनट के भीतर मौके पर पहुंच गया और 16,800 फीट की ऊंचाई पर गोंगमारु ला दर्रे पर हताहत व्यक्ति को देखा। उन्होंने कहा कि एयरक्रू नंबर 1 ने पूरी तरह से रेकी की और एयरक्रू नंबर 2 की सहायता से माउंटेन पास पर उतरा और अशांत मौसम की स्थिति में इजरायली नागरिक मौके से सुरक्षित निकाला। उन्होंने कहा, ‘वायु सेना स्टेशन लेह में एक घंटे के सीमित समय के भीतर हताहत इजरायली नागरिक को शीघ्रता से बरामद कर लिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here