एक लाख का इनामी नक्सली ऐसे किया गया ढेर!

मिलिशिया कमांडर पर आरोप है कि उसने साथियों के साथ 24 फरवरी को चिकपाल में लखमा कवासी के घर खाना खाने के बाद उसकी हत्या कर दी थी।

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में 11 अप्रैल को हुई मुठभेड़ में एक लाख का इनामी नक्सली मिलिशिया कमांडर ढेर कर दिया गया। जबकि बस्तर से सटे महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में पुलिस ने घायल नक्सली कमांडर के पकड़कर उसका इलाज कराया। मुठभेड़ में घायल होने के बाद उसके साथी उसे छोड़कर भाग गए थे। दूसरी और बीजापुर जिले में नक्सलियों ने इनटेक वेल निर्माण के काम में लगे पांच वाहनों को आग के हवाले कर दिया।

 पुलिस अधीक्षक डॉ. अभिषेक पल्लव ने दी जानकारी
दंतेवाड़ा के पुलिस अधीक्षक डॉ. अभिषेक पल्लव ने जानकारी देते हुए कहा कि कटेकल्याण थाना क्षेत्र के गादम-जंगमपाल के जंगल में हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों को भारी पड़ता देख नक्सली भाग खड़े हुए। इसके बाद वहीं से एक नक्सली का शव बरामद हुआ। बाद में पता चला कि वह एक लाख का इनामी नक्सली मिलिशिया कमांडर का शव है। उसके शव के आलावा घटनास्थल से 8 एमएम का एक पिस्टल, एक देशी बंदूक, दो किलो आइइडी, दो पिट्टू, नक्सल साहित्य, दवाइयां बरामद की गई हैं।

ये भी पढ़ेंः बंगाल में वीरगति को प्राप्त बिहार के दारोगा की मां नहीं बर्दाश्त कर सकीं सदमा!

पुलिस ने रखा था एक लाख इनाम
मिलिशिया कमांडर पर आरोप है कि उसने साथियों के साथ 24 फरवरी को चिकपाल में लखमा कवासी के घर खाना खाने के बाद उसकी हत्या कर दी थी। इस वारदात के बाद पुलिस ने उस पर एक लाख रुपए का इनाम घोषित किया था।

घायल नक्सली को छोड़कर भाग गए नक्सली
डॉ. पल्लव ने बताया कि एक अन्य घटना में गढ़चिरोली जिले के भामरगढ़ ब्लॉक में पुलिस ने एक घायल नक्सली कमांडर किशोर कवाड़े को पकड़ा है। 28 मार्च को गढ़चिरौली के खोब्रामेढ़ा में महाराष्ट्र की सी-60 टीम की नक्सलियों से मुठभेड़ में पांच नक्सली मारे गए थे। उसी मुठभेड़ में किशोर के पैर में गोली लगने के कारण वह चल नहीं पा रहा था। इस कारण उसके साथी उसे छोड़कर भाग गए थे। उत्तर गढ़चिरौली समिति के डीवीसी मेंबर कवड़े पर राजनांदगांव की सीमा पर व उत्तर गढ़चिरौली में 50 मामले दर्ज हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here