दिल्ली में आतंकी षड्यंत्र… वो छुपी नजर खोलेगी राज

गाजीपुर फूल मंडी में मिले आईईडी को गड्ढे में रखकर धमाका करके निष्क्रिय किया गया। इसकी गूंज एक किलोमीटर तक सुनाई दी।

दिल्ली के गाजीपुर में इम्प्रूवाइज्ड एक्सप्लोजिव डिवाइस (आईईडी) को एनएसजी के दल ने निष्क्रिय कर दिया है। अब जांच एजेंसियां यह पता कर रही हैं कि, इसके पीछे किसका हाथ था। इस संबंध में जानकारी प्राप्त करने के लिए अब आसपास की छुपी नजर (सीसीटीवी) पर संदिग्धों की खोज की जा रही है।

यह प्रकरण गणतंत्र दिवस के पहले दिल्ली को दहलाने का भी हो सकता है। जो हो सकता है, किसी बड़े षड्यंत्र का हिस्सा रहा हो। परंतु, समय रहते आईईडी प्लांट किये जाने की जानकारी प्राप्त होने से बड़ी आतंकी घटना टल गई है। इस प्रकरण की जांच अब दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल कर रही है। दिल्ली पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार सुबह 10.20 पर एक पीसीआर कॉल मिली थी। जिसमें एक संदिग्ध बैग की जानकारी दी गई थी। जब दिल्ली पुलिस पहुंची तो उसने बम निरोधक दस्ते और एनएसजी को बुलाया।

ये भी पढ़ें – दिल्ली-मुंबई में कब आएगा तीसरी लहर का पीक? विशेषज्ञों ने बताया

न्यायालय में हो चुका है धमाका
9 दिसंबर को एक धमाका दिल्ली के रोहिणी न्यायालय में हुआ था। जिसमें न्यायालय के कमरा नंबर 102 में धमाका हुआ था। वहां लैपटॉप बैग में एक टीन का बक्सा रखा था, जिसमें विस्फोटक था। वह कम क्षमता का विस्फोट था। धमाके के पश्चात स्थल से बैटरी और वायर भी प्राप्त हुआ था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here