तृणमूल नेता कुंतल घोष को ईडी ने किया गिरफ्तार, यह है मामला

तृणमूल युवा नेता के तौर पर जाने जाने वाले कुंतल घोष के बारे में प्राथमिक शिक्षा परिषद के पूर्व अध्यक्ष माणिक भट्टाचार्य के करीबी तापस मंडल ने बताया था।

41

पश्चिम बंगाल के बहुचर्चित शिक्षक नियुक्ति भ्रष्टाचार प्रकरण में आखिरकार हुगली जिले के तृणमूल युवा नेता कुंतल घोष को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गिरफ्तार कर लिया। घोष को सीजीओ कॉम्प्लेक्स स्थित केंद्रीय एजेंसी के क्षेत्रीय कार्यालय में पूछताछ के लिए लाया जा रहा है। ईडी के सूत्रों ने यह जानकारी दी। ईडी अधिकारियों की दो टीमें 20 जनवरी को चिनार पार्क स्थित कुंतल के दो फ्लैटों की तलाशी लेने पहुंची थीं। एक फ्लैट में कुंतल को बैठा कर रखा गया। तलाशी में महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद हुए। इस पर उससे पूछताछ की गई और शनिवार सुबह उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

ये भी पढ़ें- खत्म हुआ पहलवानों का धरना, इन बातों पर बनी सहमति

325 लोगों से वसूली का आरोप
मूल रूप से हुगली जिले के बालागढ़ में तृणमूल युवा नेता के तौर पर जाने जाने वाले कुंतल के बारे में प्राथमिक शिक्षा परिषद के पूर्व अध्यक्ष माणिक भट्टाचार्य के करीबी तापस मंडल ने बताया था। तापस से सीबीआई अधिकारियों ने पूछताछ की थी। उसने पूछताछ में दावा किया था कि कुंतल ने 325 लोगों से नौकरी के नाम पर 19 करोड़ रुपए की वसूली की है। ईडी ने इस संबंध में चार्जशीट दाखिल की थी। इसमें यह जिक्र है कि 325 लोगों से “घोष बाबू” नाम के एक नेता ने 3.25 करोड़ रुपए सीधे लिए थे। उस समय पता नहीं चला था कि घोष बाबू कौन है। अब कुंतल की गिरफ्तारी से स्पष्ट हो गया है कि इसी तृणमूल नेता के बारे में चार्जशीट में जिक्र था।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.