तवांग में घुसपैठ की कोशिश पर सेना कमांडर ने चीन को दी ये चेतावनी

तवांग में चीनी सेना को खदेड़े जाने के बाद पूर्वी सेना कमांडर ने दावा किया कि घटना के बाद सीमा पर स्थिति नियंत्रण में है और शांतिपूर्ण है।

हाल ही में अरुणाचल प्रदेश के तवांग में चीनी सेना के साथ भारतीय सैनिकों के टकराव को लेकर पूर्वी सेना कमांडर आरपी कलिता ने महत्वपूर्ण बयान दिया है।

16 दिसंबर को 51वें विजय दिवस समारोह के तहत फोर्ट विलियम मुख्यालय में सैनिकों को श्रद्धांजलि देने के बाद उन्होंने मीडिया से बातचीत की। कलिता ने कहा कि तवांग सेक्टर में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीनी सैनिकों ने भारतीय सीमा को पार करने की हिमाकत की थी, इसलिए हमने उन्हें कड़ा जवाब दिया। भारतीय सीमा में घुसपैठ की कोशिश कर रहे चीनी सैनिकों को खदेड़ दिया गया।

सेना देश रक्षा के लिए हमेशा तैयार
लेफ्टिनेंट जनरल कलिता ने आगे कहा कि एक सैनिक के नाते हम हमेशा अपने देश की रक्षा के लिए तैयार हैं। शांति हो या संघर्ष, प्राथमिक कार्य बाहरी या आंतरिक खतरे के खिलाफ देश की क्षेत्रीय अखंडता को सुनिश्चित करना हमारा कर्तव्य है। हम सभी परिस्थितियों लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि झड़प में दोनों तरफ के सैनिकों को चोटें आईं हैं। आर्मी कमांडर के मुताबिक इस घटना में चीनी सैनिकों को ज्यादा नुकसान पहुंचा जबकि हमारे कुछ ही जवान मामूली रूप से घायल हुए हैं।

स्थिति नियंत्रण में और शांतिपूर्ण
पूर्वी सेना कमांडर ने दावा किया कि घटना के बाद सीमा पर स्थिति नियंत्रण में है और शांतिपूर्ण है। उन्होंने कहा कि इस घटनाक्रम के बाद बुमला में दोनों सेनाओं के एरिया कमांडरों की फ्लैग मीटिंग हुई और स्थानीय स्तर पर इसका समाधान हुआ। सीमा पर अभी हालात सामान्य व नियंत्रण में हैं। सेना कड़ी निगरानी रख रही है।

यह भी पढ़ें – अब दुश्मन की खैर नहीं, भारत को मिला…

इस अवसर पर पूर्वी आर्मी कमांडर ने फोर्ट विलियम स्थित विजय स्मारक पर 1971 में पाकिस्तान के खिलाफ युद्ध में बलिदान होने वाले जांबाज़ योद्धाओं को श्रद्धांजलि अर्पित की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here