रक्षा मंत्री पहुंचे वायुसेना के प्रमुख राडार स्टेशन, सेंसर टू शूटर लूप की जानकारी प्राप्त की

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को भारतीय वायुसेना के एक प्रमुख राडार स्टेशन का दौरा किया। उन्हें इंटीग्रेटेड एयर कमान और नियंत्रण प्रणाली (आईएसीसीएस) के बारे में जानकारी दी गई। यह प्रणाली नेटवर्क संचालन के लिहाज से भारतीय वायुसेना की रीढ़ है। इसकी क्षमताएं वायुसेना को बढ़ी हुई स्थितिजन्य जागरूकता प्रदान करती हैं, जो भारतीय वायुसेना के सेंसर-टू-शूटर लूप को कम करती है। इस मजबूत प्रणाली के कामकाज में ऐसी विशेषताएं हैं, जो देश में इसके सहज संचालन को सक्षम बनाती हैं।

यह भी पढ़ें – हिजाब विवादः सर्वोच्च न्यायालय ने याचिकाकर्ता को इस बात के लिए लगाई फटकार, सरकार को भेजा नोटिस

रक्षा मंत्री के सामने देश भर में विभिन्न स्थानों पर संचालित होने वाले विभिन्न नेटवर्क ऑपरेशंस का प्रदर्शन किया गया। इनमें लड़ाकू, परिवहन और दूर से चलने वाले विमानों के नेटवर्क और समग्र संचालन शामिल थे। उन्हें शांतिकालीन कमान और नियंत्रण कार्यों की बारीकियों के बारे में भी बताया गया, जिनमें दिन प्रतिदिन बड़े आयोजनों के दौरान महत्वपूर्ण क्षेत्रों की वायु सुरक्षा सुनिश्चित करना शामिल है।अपने संबोधन में राजनाथ सिंह ने साल भर देश को सुरक्षित रखने के लिए वायु सेना के वीरों की सराहना की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here