दिल्ली में दिनदहाड़े बदमाशों ने कर दिया ऐसा…

दिल्ली के अस्पताल के बाहर हंगामा हो गया। अचानक गोलियां चलने की आवाज आने पर लोगों को लगा कि ये आतंकी अटैक में तो नहीं चल रहीं।

जीटीबी अस्पताल के बाहर फ़ायरिंग की खबर है। यह फ़ायरिंग बदमाशों द्वारा की गई है जिसमें बदमाश एक साथी को छुड़ा ले गए। इस घटना की जवाबी कार्रवाई में एक बदमाश की मौत हो गई जबकि दूसरा घायल है।

मिली जानकारी के अनुसार दिल्ली पुलिस की तीसरी बटालियन कुलदीप नामक एक अपराधी को जेल से जीटीबी अस्पताल ले आई थी। इस बीच मौक़ा देखकर उसे छुड़ाने आए बदमाशों ने अंधाधुंध फ़ायरिंग शुरू कर दी। इस घटना के बाद मची आपाधापी का लाभ लेकर कुलदीप भाग गया जबकि उसे छुड़ाने आया एक बदमाश वहीं ढेर हो गया और दूसरा घायल हो गया है। ये बदमाश जितेंद्र गोगी गैंग के हैं। कुलदीप पर सत्तर से अधिक आपराधिक मामले दर्ज हैं। मारे गए बदमाशों की पहचान के लिए पुलिस जांच कर रही है।

ये भी पढ़ें – जानिये…दबंग आईपीएस अधिकारी रश्मि शुक्ला कौन हैं?

दुर्दांत अपराधियों का है गिरोह
कुलदीप का पूरा नाम कुलदीम मनन उर्फ़ फज्जा है। उस पर दिल्ली और उसके आसपास ७० से अधिक प्रकरण दर्ज है। इस गिरोह का सरगना जितेंद्र उर्फ़ गोगी पर दर्जनों लोगों की गैंगवार में हत्या का आरोप है। गोगी २०१६ में जेल से फरार हो गया था। उसकी गिरफ़्तारी के लिए दिल्ली पुलिस का विशेष दल लगा हुआ था। उसे मार्च २०२० में गुरुग्राम के एक फ़्लैट से चार साथियों के साथ गिरफ्तार किया गया था। गोगी मूलरूप से नवल पार्क, अलीपुर का निवासी है। उसके साथ नया बांस दिल्ली निवासी कुलदीप मनन उर्फ फज्जा, सोनीपत हरियाणा निवासी रोहित उर्फ मोई और लुकाद्री, सहारनपुर यूपी निवासी कपिल उर्फ गौरव को पकड़ा गया था दबोचा। फज्जा और मोई भी इनामी बदमाश थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here