चीन की एक और चाल नाकाम! हमारे जाबांज सैनिकों ने ऐसे खदेड़ा

मीडिया रिपोर्ट में बताया गया है कि घुसपैठ की कोशिश के दौरान भारतीय सैनिकों ने वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास कुछ चीनी सैनिकों को पकड़ लिया।

भारत की भूमि को हथियाने के षड्यंत्र में लगे चालबाज चीन को बार-बार भारतीय सेना के जवानों द्वारा मुंहतोड़ जवाब दिया जा रहा है। इसके बावजूद वह षड्यंत्र रचने से बाज नहीं आ रहा है। अब एक बार फिर उसने अरुणाचल प्रदेश में घुसपैठ की कोशिश की है, लेकिन भारत के जांबाज सैनिकों ने उसे खदेड़ दिया।

रक्षा विभाग ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा है कि पिछले हफ्ते अरुणाचल प्रदेश के तवांग में भारत और चीन की सेना के बीच झड़प हो गई। चीनी सेना के जवान उस समय भारत की सरजमीं में घुसपैठ की कोशिश कर रहे थे। हालांकि इस दौरान कोई बड़ी घटना नहीं हुई और मामला बातचीत से सुलझ गया।

मुंहतोड़ जवाब
प्राप्त जानकारी के अनुसार भारतीय सेना ने घुसपैठ की कोशिश कर रहे चीनी सैनिकों को मुंहतोड़ जवाब दिया। उसके बाद वे बातचीत के लिए तैयार हो गए और दोनों देशों की सैनिक अपने-अपने क्षेत्र में चले गए। सेना द्वार प्राप्त जानकारी के अनुसार वे अरुणाचल प्रदेश के तवांग में भारतीय बंकरों को नुकसान पहुंचाने के इरादे से भारत की सरजमीं पर दाखिल हुए थे। उनकी संख्या लगभग 200 थी। वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीन इससे पहले भी कई बार इस तरह की हरकतें कर चुका है।

चीनी सैनिकों को पकड़े जाने की रिपोर्ट
मीडिया रिपोर्ट में बताया गया है कि इस दौरान भारतीय सैनिकों ने वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास घुसपैठ की कोशिश कर रहे कुछ चीनी सैनिकों को पकड़ लिया था। हालांकि कुछ देर की बातचीत के बाद मामला सुलझ गया और उन्हें छोड़ दिया गया।

ये भी पढ़ेंः कश्मीर में 1990 जैसे हालात पैदा करने का षड्यंत्र? तीन दिन में पांच हिंदुओं की हत्या

वर्षों पुराना है सीमा विवाद
भारत-चीन की सीमा विवाद वर्षों से चला आ रहा है। पूर्वी लद्दाख में सीमा विवाद को सुलजाने के लिए कई स्तरों की कमांडर लेवल की बातचीत हो चुकी है, लेकिन अभी तक उसका कोई स्थाई हल नहीं निकला और सीमा पर आज भी दोनों देशों की सेना के बीच तनाव बरकरार है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here