एमआई-17वी 5 हेलीकॉप्टर हादसाः अस्पताल में भर्ती ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह का भी निधन

पिछले हफ्ते तमिलनाडु के कुन्नूर में सेना के हेलीकॉप्टर हादसे में जीवित बचे वायुसेना के ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह का भी निधन हो गया है। वे हादसे में जीवित बचने वाले एकमात्र व्यक्ति थे।

पिछले हफ्ते तमिलनाडु के कुन्नूर में सेना के हेलीकॉप्टर हादसे में जीवित बचे ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह का भी निधन हो गया है। वे हादसे में जीवित बचने वाले एकमात्र व्यक्ति थे। उन्हें बचाने का प्रयास किया जा रहा था। उनके स्वस्थ होने के लिए देश भर में दुआएं मांगी जा रही थीं, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका और 15 दिसंबर को अस्पताल में उनका निधन हो गया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार हेलीकॉप्टर हादसे में उनका शरीर 90 प्रतिशत जल चुका था और उनकी स्थिति गंभीर बनी हुई थी। पिछले दिनों उन्हें उपचार के लिए चेन्नै से बेंगलुरू स्थानांतरित किया गया था। 8 दिसंबर को हुए हादसे में देश के प्रथम सीडीएस बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत समेत 13 लोगों की मौत हो गई थी। हादसे में अकेले वरुण सिंह ही बच गए थे। 15 दिसंबर को वे जिंदगी की जंग हार गए।

खास बातें

  • ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह उत्तर प्रदेश के देवरिया के खोरमा कन्हौली गांव रहने वाले थे।
  • वे ग्रुप कैप्टन अभिनंदन वर्धमान के बैचमेट थे।
  • अभिनंदन ने 27 फरवरी 2019 को भारत की सीमा में घुसे पाकिस्तानी विमानों को खदेड़ दिया था।
  • वरुण सिंह का जन्म दिल्ली में हुआ था। वे 42 साल के थे।
  • उनके पिता कृष्ण प्रताप सिंह सेना में कर्नल पद से सेवा निवृत्त हुए थे।
  • वरुण के छोटे भाई तनुज सिंह मुंबई में नेवी में कार्यरत हैं।
  • उनके परिवार में पत्नी गीतांजली, बेटा रिद रमन और बेटी आराध्या हैं।

हादसे में इनका निधन
इस हादसे में मृतकों में सीडीएस बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका रावत, ब्रिगेडियर एल एस लिड्डर, कर्नल हरजिंदर सिंह, लांस नायक विवेक कुमार, नायक गुरुसेवक सिंह, लांस नायक बी साई तेजा, नायक जितेंद्र कुमार, हवलदार सतपाल राई, विंग कमांडर पीएस चौहान, स्क्वाड्रन लीडर कुलदीप सिंह, राणा प्रताप दास, जेडब्ल्यू प्रदीप शामिल थे।

पीएम ने व्यक्त किया शोक
ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शोक व्यक्त करते हुए उनके परिजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की है।

वायुसेना ने ट्वीट कर दी जानकारी
ग्रुप कैप्टन सिंह का उपचार किया जा रहा था, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। उनके निधन के बारे में भारतीय वायुसेना ने ट्वीट कर जानकारी दी है। वायु सेना ने ट्वीट कर उनके निधन की जानकारी दी,” काफी दुख हो रहा है कि ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह का उपचार के दौरान निधन हो गया। वे 8 दिसंबर 2021 को हुए हादसे में एकमात्र जिंदा बचे थे। वायुसेना के अधिकारी उनके निधन पर शोक और संवेदनाएं व्यक्त करते हैं तथा वे उनके परिजनों के साथ मजबूती से खड़े हैं।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here