पेलोसी की ताइवान यात्राः लद्दाख में चीन सीमा पर बढ़ीं हवाई गतिविधियां, भारत ऐसे रख रहा है नजर

अमेरिकी प्रतिनिधि नैंसी पेलोसी की ताइवान यात्रा के बीच पूर्वी लद्दाख में चीन सीमा पर भी हवाई गतिविधियां बढ़ी हैं। उनकी यात्रा पर ताइवान जलडमरूमध्य में तनाव बढ़ रहा है।

अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी की ताइवान यात्रा के बीच पूर्वी लद्दाख में चीन सीमा पर भी हवाई गतिविधियां बढ़ी हैं। भारत और चीन की वायु सेनाओं के लड़ाकू विमान एलएसी के पास लगातार उड़ान भर रहे हैं। पिछले दिनों चीनी वायु सेना की गतिविधियां बढ़ने के बाद से पहले ही उच्चतम स्तर का सैन्य नेतृत्व पूर्वी लद्दाख और अरुणाचल प्रदेश में नियमित रूप से निगरानी रख रहा है।

भारत ऐसे रखे हुए पैनी नजर
चीन के साथ तनाव के बीच भारतीय वायु सेना पूर्वी लद्दाख सेक्टर में रात के समय लड़ाकू हवाई गश्त कर रही है। चीन सीमा के पास एक अग्रिम एयरबेस से भारतीय वायु सेना अपने लड़ाकू विमानों को शामिल करते हुए गहन रात्रि अभियान चला रही है। मिग-29 और सुखोई-30 एमकेआई सहित अन्य लड़ाकू विमान अपाचे अटैक हेलीकॉप्टर और चिनूक हेवी-लिफ्ट हेलीकॉप्टरों के साथ उड़ान भर रहे हैं। चीन की सीमा के पास अग्रिम हवाई अड्डे पर अपाचे अटैक हेलीकॉप्टर देखे गए हैं। अपाचे हेलीकॉप्टरों के पायलटों को उनके नाइट विजन गॉगल्स के साथ उड़ान भरते देखा जा सकता है।

चीन को आपत्ति
चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने 1 अगस्त को कहा था कि अगर पेलोसी ताइवान का दौरा करती हैं तो यह ‘चीन के आंतरिक मामलों में एक बड़ा हस्तक्षेप’ होगा। उन्होंने चेतावनी भरे अंदाज में कहा कि हम संयुक्त राज्य अमेरिका को एक बार फिर से बताना चाहते हैं कि चीन अपनी संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा के लिए दृढ़ प्रतिक्रिया और मजबूत जवाबी कार्रवाई करेगा। चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी कभी भी चैन से नहीं बैठेगी और इसके ‘बहुत गंभीर’ परिणाम होंगे। यह पूछे जाने पर कि पीएलए किस तरह के उपाय कर सकती है, तो झाओ ने कहा कि अगर वह ताइवान जाने की हिम्मत करती हैं, तो आइए प्रतीक्षा करें और देखें।

इस क्षेत्र में बढ़ रहा है तनाव
चीन ने फ़ुज़ियान प्रांत में सैन्य उपकरण तैनात किये हैं, यह इलाका ताइवान जलडमरूमध्य का सामना करता है। पेलोसी की यात्रा पर ताइवान जलडमरूमध्य में तनाव बढ़ रहा है। सैन्य उपकरणों में टाइप 63ए उभयचर टैंक हैं, इनसे समुद्र तटों पर हमले किये जा सकते हैं। वायरल हो रहे वीडियो में फ़ुज़ियान प्रांत में काफी संख्या में टैंक विचरण करते हुए दिखाई दे रहे हैं। ज़ियामेन एयर ने 3 अगस्त को हवाई यातायात नियंत्रण का हवाला देते हुए पूर्वी चीन के फ़ुज़ियान प्रांत में हवाई अड्डों के अंदर और बाहर अपनी दर्जनों उड़ानों में समायोजन की घोषणा की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here