एलोपैथी चिकित्सा विवादः योग गुरु ने किया सरेंडर! अब कही ये बात

बाबा रामदेव ने अपने पहले के बयान को लेकर सरेंडर कर दिया है। ऐसा लगता है कि अपने बयान से विवाद पैदा करने वाले योग गुरु अब एलोपैथी चिकित्सा को लेकर और पंगा नहीं लेना चाहते।

योग गुरु बाबा रामदेव अब कोरोना रोधी वैक्सीन लगवाने के लिए तैयार हो गए हैं। उन्होंने अपने स्टैंड से पलटते हुए कहा कि वे टीका लगवाएंगे। इसके साथ ही उन्होंने डॉक्टरों को देवदूत बताया है। एलोपैथी चिकित्सा के खिलाफ पिछले 21 मई से ही मोर्चा खोल रखे योग गुरु के इस बदले स्टैंड पर आश्चर्य व्यक्त किया जा रहा है।

रामदेव ने खुद टीका लगवाने की घोषणा करने के साथ ही अन्य लोगों से भी वैक्सीन लगवाने की अपील की। योग गुरु ने कहा कि योग और आयुर्वेद के साथ ही वैक्सीन लगवाना भी जरुरी है। इसके साथ ही उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी की ओर से सबके मुफ्त टीकाकरण की घोषणा की प्रशंसा की।

पहले कही थी ये बात
बाबा ने हाल ही में अपने बयान में कहा था कि वे कोरोना वायरस रोधी टीका नहीं लगवाएंगे। वे योग और आयुर्वेद की डबल डोज ले रहे हैं। इसलिए उन्हें टीका लगवाने की जरुरत नहीं है। लेकिन अब बाबा ने पलटी मार दी है। ऐसा लगता है, वे एलोपैथी चिकित्सा को लेकर दिए गए अपने बयान के बाद जारी विवाद को समाप्त करने के मूड में हैं।

21 जून को अंतर्राष्ट्रीय दिवस
बता दें कि 21 जून से मोदी सरकार ने देश में 18 से ऊपर वाले सभी लोगों के मुफ्त टीकाकरण करने की घोषणा की है। इस दिन को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रुप में भी मनाया जाता है। इस मौके पर भारत के साथ ही विदेशों में भी योग से संबंधी कई तरह के आयोजन किए जाते हैं।

ये भी पढ़ेंः महाराष्ट्रः बाघ से दुश्मनी नहीं, नेता कहें तो हम दोस्ती के लिए तैयार हैं! चंद्रकांत पाटील ने ऐसा क्यों कहा?

क्या अब समाप्त होगा विवाद?
योग गुरु ने 21 मई को एलोपैथी चिकित्सा पर सवल उठाते हुए इसे मूर्खतापर्ण विज्ञान बताया था। हालांकि बाद में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन द्वारा उनके बयान को लेकर आपत्ति जताए जाने के बाद योग गुरु ने माफी मांग ली थी, लेकिन इसके बावजूद उनके नए और विवादास्पद बयान आने से देश के एलोपैथिक डॉक्टर काफी नाराज थे। उम्मीद है कि बाबा के इस बयान के बाद उनकी नाराजगी दूर हो जाएगी और विवाद पर विराम लग जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here