पश्चिम बंगाल हिंसा पर सख्त केंद्र सरकार! लिया ये निर्णय

पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा को केंद्र सरकार ने गंभीरता से लेते हुए इसकी जांच के लिए एक टीम गठित की है।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने चार सदस्यीय टीम गठित कर,उसे पश्चिम बंगाल में विधानभा चुनाव के बाद हुई हिंसा की जांच की जिम्मेदारी सौंपी है।

यहां आठ चरणों में कराए गए चुनाव की 2 मई को मतगणना होने और तृणमूल कांग्रेस पार्टी की बंपर जीत मिलने के बाद बड़े पैमाने पर हिंसा होने के साथ ही तोड़फोड़ तथा आगजनी की घटनाएं घटी थीं। इस हिंसा में 11 लोग मारे गए हैं, जब कि दर्जनों मकानों और दुकानो में हुई तोड़फोड़ और आगजनी में बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ है।

ये भी पढ़ेंः बंगालः जेपी नड्डा ने पीड़ित परिवारों से की मुलाकात, अब तक 11 से ज्यादा लोगों की मौत

पश्चिम बंगाल पहुंची टीम
गृह मंत्रालय द्वारा जांच के लिए गठित यह टीम राज्य में हिंसक घटनाओं की गहराई से जांच करेगी। यह जानकारी देते हुए गृह मंत्रालय की ओर से बताया गया है कि इस टीम का नेतृत्व मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव कर रहे हैं। टीम 5 मई को पश्चिम बंगाल पहुंच चुकी है।

ये भी पढ़ेंः जम्मू-कश्मीरः शोपियां में तीन आतंकवादी ढेर, सांबा में घुसपैठ की कोशिश नाकाम

हिंसा पर मांगी है रिपोर्ट
बता दें कि 4 मई को राज्य में हुई हिंसा को लेकर केंद्रीय गृह मंत्रालय को, प्रदेश की सरकार को रिपोर्ट सौंपने को कहा गया है, इसके साथ ही इसे अविलंबव रोकने की दिशा में कदम उठाने का भी निर्देश दिया गया है।

ये भी पढ़ेंः पश्चिम बंगाल: हिंसा पर प्रधानमंत्री भी हुए सख्त, जानें राज्यपाल से क्या बोले?

गंभीर फैसले की चेतावनी
मंत्रालय की ओर से चेतावनी जारी करते हुए कहा गया है कि अगर राज्य सरकार इसे रोकने में असफल रही तो गंभीर फैसला लेना होगा। बता दें कि इस हिंसा में 11 लोगों की मौत हो गई है, जबकि दर्जनों घरों औरस दुकानों को भारी नुकसान पहुंचा है। इसके साथ ही करीब एक लाख लोग डर से अपने घर छोड़ने पर मजबूर हो गए हैं। भाजपा का आरोप है कि मारे गए लोगों में ज्यादातर उसके पार्टी कार्यकर्ता शामिल हैं।

हिंसा जारी, केंद्रीय मंत्री के काफिले पर हमला
इस बीच प्रदेश में हिंसा जारी रहने की खबरें मिल रही हैं। केंद्रीय मंत्री वी. मुरलीधरन ने हमले का वीडियो जारी करते हुए लिखा है,’ टीएमसी के गुंडों ने पश्चिम मिदनापुर में मेरे काफिले पर हमला किया और खिड़कियों को तोड़ दिया तथा निजी कर्मचारियों को निशाना बनाया। इसलिए मैं अपनी यात्रा को खत्म कर रहा हूं।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here