बंगालः नेताजी की जयंती पर बवाल, पत्थरबाजी के साथ गोलियां भी चलीं! पूरा मामले जानने के लिए पढ़ें ये खबर

23 जनवरी की सुबह बैरकपुर के सांसद अर्जुन सिंह और भाटपाड़ा के विधायक पवन सिंह नेताजी की मूर्ति पर माल्यार्पण करने पहुंचे थे। आरोप है कि तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने उनका विरोध किया।

 नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती के मौके पर पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले का भाटपाड़ा क्षेत्र रणक्षेत्र में तब्दील हो गया। बैरकपुर के भाजपा सांसद अर्जुन सिंह और उनके बेटे पवन सिंह को नेताजी सुभाष चंद्र बोस की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने से रोकने पर बवाल हो गया। पत्थरबाजी के बीच परिस्थितियों पर काबू पाने के लिए सीआईएसएफ के जवानों को हवा में सात राउंड गोलियां चलानी पड़ी।

जानकारी के अनुसार 23 जनवरी की सुबह बैरकपुर के सांसद अर्जुन सिंह और भाटपाड़ा के विधायक पवन सिंह नेताजी की मूर्ति पर माल्यार्पण करने पहुंचे थे। आरोप है कि तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने उनका विरोध किया।

टीएमसी ने भाजपा सांंसद को माल्यार्पण से रोका
तृणमूल कार्यकर्ताओं में सांसद अर्जुन सिंह और उनके बेटे पवन सिंह को नेताजी सुभाष चंद्र बोस की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने से रोक दिया। खबर पाकर बड़ी संख्या में पुलिस घटनास्थल पर पहुंच गई लेकिन पुलिस के सामने ही तृणमूल और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच धक्कामुक्की चलती रही। इस दौरान पत्थरबाजी शुरू हो गई। परिस्थितियों पर काबू करने से लिए सांसद की सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मियों को हवा में सात राउंड गोलियां चलानी पड़ीं। तनाव को देखते हुए इलाके में बड़ी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है।

ये भी पढ़ेंः नेताजी की 125वीं जयंतीः प्रधानमंत्री ने किया नमन, दिया यह संदेश

आरोप-प्रत्यारोप जारी
भारी विरोध के चलते सांसद अर्जुन सिंह और विधायक पवन सिंह को नेताजी की मूर्ति पर माल्यार्पण किये बगैर ही वापस लौटा पड़ा। नेताजी की प्रतिमा पर जगदल के विधायक सोमनाथ श्याम और भाटपाड़ा नगरपालिका के प्रशासक गोपाल राउत ने माल्यार्पण किया। सांसद का आरोप है कि पुलिस पूरे घटना के दौरान मूकदर्शक बनी रही। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुकान्त मजूमदार ने भी इस घटना की निंदा की है। दूसरी ओर तृणमूल नेता ज्योतिप्रिय मल्लिक का आरोप है कि अर्जुन सिंह इलाके में जानबूझकर अशांति फैला रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here