गुदड़ी के लाल: वो भी विधायक बन गई, संपत्ति में है 3 बकरी और 3 गाय!

पश्चिम बंगाल में पहली बार विधायक बनी अनुसूचित जाति की चंदना बाउरी श्रमिक वर्ग से हैं। उनका जीतना लोकतंत्र की पवित्रता का संदेश देता है, लेकिन बंगाल में हो रही हिंसा लोकतंत्र को मलिन करनेवाली है। जिससे यह नई विधायक भी चिंतित और आक्रोशित है।

पश्चिम बंगाल चुनाव में एक ऐसी भी उम्मीदवार ने जीत दर्ज की है, जिसकी संपत्ति में है 3 बकरी और 3 गाय, एक झोपड़ी। चांदना बाउरी नामक यह विधायक सालतोरा विधान सभा के चुनी गई हैं। वे भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर खड़ी हुई थीं।

चंदना बाउरी मनरेगा मजदूर हैं। उनकी जमा पूंजी है 31,985 रुपए। वे बांतकुड़ा जिले के सालतोरा से खड़ी थीं। उन्होंने तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार संतोष मंडल को चार वोटों से हरा दिया। भाजपा के प्रति समर्पित इस विधायक की जानकारी भारतीय जनता पार्टी के नेता सुनील देवधर ने ट्वीट करके दी है।

ये भी पढ़ें – मोदी सरकार के महत्वाकांक्षी सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट पर कोरोना का साया!

मजदूर हैं
चंदना बाउरी के पति श्रवण राज मिस्त्री हैं, पति-पत्नी मनरेगा के अंतर्गत पंजीकृत हैं। उनके तीन बच्चे हैं और पिछले कई वर्षों से भाजपा के लिए कार्य करती रही हैं।

हमलों से हैं चिंतित
पश्चिम बंगाल चुनावों के बाद आतंक का जो खुला खेल चल रहा है उससे चंदना बाउरी भी आक्रोषित हैं। उन्होंने कार्यकर्ताओं की सुरक्षा की गुहार लगाई है। इसके साथ ही ममता बनर्जी पर आरोप लगाया है इस हिंसा को खुली छूट देने के लिए।

चंदना ने अपने ट्वीट में लिखा है ममता बनर्जी हार नहीं पचा पा रही हैं इसलिए हमले करवा रही हैं। इसके साथ ही उन्होंने चेतावनी भी दी है कि यदि उनके घर पर एक भी टीएमसी का गुंडा आया तो वो चार कंधों पर जाएगा।

नींद से जागो…
राज्य में हो रही हत्या, बलात्कार, लूट, आगजनी की घटनाओं से आक्रोषित चंदना बाउरी ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर तीखा प्रहार किया है। उन्होंने साफ लिखा है कि जिन कार्यकर्ताओं ने अपना पसीना बहाया है उनका खून बहते हम नहीं देख सकते।

ये भी पढ़ें – खतरनाक है दूसरी लहर! एक महीने में 64 पुलिसकर्मियों ने गंवाई जान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here