नाला सफाई में बेवफाई! पहली ही बारिश में मुंबई का ये हाल

मुंबई में मॉनसून के आगमन के पहले ही दिन उसका काफी असर देखा जा रहा है। 9 जून की रात से ही यहां झमाझम बारिश जारी है। इसका असर यहां की लाइफलाइन कही जाने वाली लोकल ट्रेनों की सेवा पर भी पड़ा है।

मॉनसून में मुंबई में हर साल जल भराव की बड़ी समस्या उत्पन्न हो जाती है। इसका कारण बारिश के पानी की निकासी का उचित प्रबंध नहीं होना है। इस वर्ष भी वही हाल है। मॉनसून के दस्तक देने के पहले ही दिन देश की राजधानी के कई इलाकों में पानी भर गया है। हलांकि इस वर्ष मुंबई महानगरपालिका प्रशासन और महापौर किशोरी पेडनेकर ने दावा किया था कि इस साल नालों की सफाई 104 प्रतिशत की गई है। लेकिव उनके इस तरह के दावे की हवा निकल गई है। कई इलाकों में पानी भर जाने को लेकर मुंबईकरों ने प्रशासन के प्रति नाराजगी जताई है।

ये तो ट्रेलर है पिक्चर अभी बाकी है
मौसम विभाग ने मुंबई समेत महाराष्ट्र के कोंकण और अन्य सभी जिलों में 9 जून से 12 जून तक भारी बारिश की चेतावनी दी है। मुंबई में हर साल ऐसी समस्या उत्पन्न होती है। इस साल इस तरह की समस्या से बचाने के लिए मुंबई मनपा प्रशासन ने कथित रुप से जोरदार तैयारी की थी, लेकिन पहली बारिश में ही उसकी तैयारी की पोल खुल गई है।

ये भी देखेंः भारी बारिश से अस्त व्यस्त मुंबई

इन क्षेत्रों में भरा पानी
मुंबई में मॉनसून के आगमन के पहले ही दिन उसका काफी असर देखा जा रहा है। 9 जून की रात से ही यहां झमाझम बारिश जारी है। इसका असर यहां की लाइफलाइन कही जाने वाली लोकल ट्रेनों की सेवा पर भी पड़ा है। खासकर सेंट्रल और हार्बर रेलवे की सेवा बुरी तरह लड़खड़ा गई है। सायन, कुर्ला और बांद्रा आदि इलाकों में ट्रैक पर पानी भर गया है। वेस्टर्न उपनगरों में वसई-विरार और नालासोपारा आदि क्षेत्रों में जल भराव की खबरें आ रही हैं। अंधेरी सबवे, मिलन सबवे और विले-पार्ले के साथ ही हिंदमता, किंग्स सर्कल आदि क्षेत्रों में जल भराव से लोगों की मुश्किलें बढ़ गई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here