पश्चिम बंगाल में हिंसाः अब तक 4 लोगों की मौत,नंदीग्राम में तोड़फोड़

पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस पार्टी की बंपर जीत की घोषणा के बाद से ही हिंसा का दौर शुरू हो गया है। यहां 3 मई को भी हिंसक वारदातें जारी रहीं।

पश्चिम बंगाल में चुनावों के नतीजे घोषित होते ही हिंसक वारदातें बढ़ने लगी हैं। भविष्य में यह हिंसा और बढ़ने की पूरी आशंका है। फिलहाल इस प्रदेश में हिंसा में चार लोगों की मौत हो गई है।

2 मई को तृणमूल कांग्रेस पार्टी की बंपर जीत के बाद से ही हिंसा का दौर शुरू हो गया है। 3 मई को भी हिंसा का दौर जारी रहा।

नंदीग्राम में तोड़फोड़ और आगजनी
बताया जा रहा है कि नंदीग्राम में भारतीय जनता पार्टी के कार्यालय में तोड़फोड़ की कोशिश की गई। इसके साथ ही वहां हंगामा होने की खबर है।नंदीग्राम में हंगामा और कार्यालय में तोड़फोड़ के लिए भाजपा ने टीएमसी को जिम्मेदार ठहराया है। नंदीग्राम से आ रही खबरों में ये भी दावा किया जा रहा है कि वहां कई घरों और दुकानों में आग लगा दी गई है।

ये भी पढ़ेंः टीएमसी भाजपा कार्यकर्ताओं को बना रही है निशाना! संबित पात्रा के गंभीर आरोप

मृतकों में दो भाजपा कार्यकर्ता शामिल
बता दें कि नंदीग्राम से तृणमूल कांग्रेस पार्टी प्रमुख ममता बनर्जी को भाजपा के उम्मीदवार सुवेंदु अधिकारी ने ने धूल चटा दी है। पश्चिम बंगाल चुनाव के परिणाम आने के बाद से जारी आगजनी और हिंसा में अब तक चार लोगों की जान जा चुकी है। इनमें दो भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता, एक टीएमसी के तथा एक आईएसएफ के कार्यकर्ता शामिल हैं।

संबित पात्रा ने ठहराया टीएमसी को जिम्मेदार
इससे पहले 2 मई को भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने तृणमूल कांग्रेस पार्टी पर गंभीर आरोप लगाए थे। उन्होंने ट्वीट कर कहा था कि पश्चिम बंगाल में मतगणना जारी है। इस बीच टीएमसी के गुंडों के भाजपा कार्यर्ताओं पर हमले बढ़ गए हैं। पात्रा का आरोप था कि आरामबाग में भाजपा कार्यालय को टीएमसी के गुंडों ने आग लगा दी। बेलघाट में भाजपा कार्यकर्ताओं पर टीएमसी कार्यकर्ताओं ने हमला किया। इसी तरह की घटनाएं शिवपुर, दुर्गापुर, उत्तर बर्धमान में भी हुईं हैं।

ममता बनर्जी की सफाई
इस बीच तृणमूल कांग्रेस पार्टी प्रमुख ममता बनर्जी ने भाजपा पर पुरानी घटनाओं की फोटो वायरल कर लोगों को गुमराह करने के आरोप लगाए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here