उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने क्यों की इस्तीफे की पेशकश? जानने के लिए पढ़ें ये खबर

उत्तराखंड विधानसभा का अगले वर्ष चुनाव होने जा रहा है और इसके लिए एक वर्ष से भी कम समय बचा है, जबकि सीएम के पद पर बने रहने के लिए तीरथ सिंह रावत को 10 सितंबर तक विधानसभा सदस्य निर्वाचित होना जरुरी है।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री का पद संभाले हुए तीरथ सिंह रावत को लगभग चार महीने ही हुए हैं, लेकिन प्रदेश में जारी राजनैतिक घटनाक्रम से ऐसा लग रह है कि उन्हें पद से इस्तीफा देना पड़ेगा। हालांकि अभी तक इस बारे में अधिकृत रुप से कोई घोषणा नही की गई है।

तीरथ सिंह रावत ने 10 मार्च को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। फिलहाल पार्टी सूत्रों के हवाले से मिली खबर के अनुसार उन्होंने सीएम पद छोड़ने की इच्छा जताई है। अब इस बात की चर्चा जोरों पर है कि अगर रावत इस्तीफा देते हैं, तो प्रदेश का सीएम कौन बन सकता है?

24 घंटे मे दो बार नड्डा से मिले
बता दें कि रावत पिछले तीन दिन से दिल्ली में हैं और वे पिछले 24 घंटों में दो बार भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मिल चुके हैं। उसके बाद राज्य में नेतृत्व परिवर्तन की चर्चा शुरू हो गई है। मिली जानकारी के अनुसार रावत ने राजनैतिक परिस्थिति को देखते हुए सीएम पद छोड़ने की पेशकश की है। हालांकि पार्टी के रुख का खुलासा नहीं हो सका है।

ये भी पढ़ेंः भाजपा के इस सांसद की वेबसाइट हैक… दी है ये धमकी

2022 में विधानसभा चुनाव
दरअस्ल उत्तराखंड विधानसभा का अगले वर्ष चुनाव होने जा रहा है और इसके लिए एक वर्ष से भी कम समय बचा है, जबकि अपने पद पर बने रहने के लिए तीरथ सिंह रावत को 10 सितंबर तक विधानसभा सदस्य निर्वाचित होना जरुरी है। पौड़ी से लोकसभा सांसद ने इसी वर्ष 10 मार्च को मुख्यमंत्री की कुर्सी संभाली है।

रावत ने नहीं किया है खुलासा
नड्डा से मुलाकात के बाद सीएम ने मीडिया से कहा कि उन्होंने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष से आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर चर्चा की है। उपचुनाव को लेकर पूछ गए सवाल पर उन्होंने कहा कि इस बारे में निर्णय लेने का अधिकार चुनाव आयोग को है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here