लखीमपुर खीरी प्रकरणः मुख्य आरोपी ‘मोनू’ इसलिए अस्पताल में भर्ती

लखीमपुर खीरी प्रकरण के मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा उर्फ मोनू को पुलिस ने 22 अक्टूबर को 24 घंटे के लिए रिमांड पर लिया था।

लखीमपुर खीरी प्रकरण के मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा को डेंगू से पीड़ित होने पर जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वे केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे हैं। जेल के एक अधिकारी के अनुसार उन्हें डेंगू हो गया है। पहले उनका उपचार जेल के अस्पताल में चल रहा था, लेकिन तबीयत ज्यादा बिगड़ने पर उन्हें जिला अस्पताल ले जाया गया है।

लखीमपुर खीरी प्रकरण के मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा उर्फ मोनू को पुलिस ने 22 अक्टूबर को 24 घंटे के लिए रिमांड पर लिया था। आशीष जब जेल से बाहर आए तो पुलिस उन्हें अपने साथ क्राइम ब्रांच के कार्यालय में ले गई। उस समय उनकी तबीयत खराब हो गई।

जेल में हो गया डेंगू
पुलिस का कहना है कि बाहर आने से पहले जेल में उनके कुछ टेस्ट कराए गए थे। उनकी बार-बार बुखार आने की शिकायत थी। बाद में 23 अक्टूबर को उनकी जो टेस्ट रिपोर्ट आई, उसमें वे डेंगू ग्रस्त पाए गए। पुलिस ने आशीष का फिर से मेडिकल टेस्ट कराया। इसमें भी वे डेंगू पॉजिटिव पाए गए।

ये भी पढ़ेंः अफगानिस्तान में सिखों पर ढाए जा रहे हैं कैसे-कैस जुर्म! जानने के लिए पढ़ें ये खबर

पुलिस ने की पुष्टि
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अरुण कुमार सिंह ने भी उन्हें डेंगू होने की पुष्टि की है। उन्होंने बताया है कि मेडिकल रिपोर्ट में उनका शुगर लेवल भी बढ़ा हुआ है। मेडिकली फिट न होने के कारण फिलहाल उनसे पूछताछ टाल दी गई है और उन्हें जिला अस्पताल में शिफ्ट कर दिया गया है। वहां उन्हें डॉक्टर की निगरानी में रखा गया है।

यह है मामला
बता दें कि 3 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को काले झंडे दिखाने के लिए जमा हुए आंदोलनकारी किसान भाजपा कार्यकर्ताओं की गाड़ी की चपेट में आ गए थे। इस घटना में चार किसानों की मौत हो गई थी, जबकि बाद में किसानों ने दो भाजपा कार्यकर्ता,एक ड्राइवर और एक पत्रकार को पीट-पीटकर मार डाला था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here