क्या तालिबान उदार हो गया है? जो बाइडन ने कही ये बात

अमेरिकी राष्ट्रपति ने अफगानिस्तान से अपने सैनिकों की वापसी के फैसले का बचाव किया। उन्होंने कहा कि हमें इस बात पर विचार करना चाहिए कि सबसे बड़ा खतरा कहां है।

अफगानिस्तान पर कब्जा करने के बाद तालिबान अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से समर्थन जुटाने के प्रयास में लगा है। इस बीच अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने तालिबान के साथ ही दूसरे आतंकी संगठनों से खतरे को लेकर विश्व को सावधान रहने की सलाह दी है।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि तालिबान बिलकुल नहीं बदला है। वर्तमान में वह अपना अस्तित्व बचाने की कोशिश कर रहा है। उन्होंने कहा कि बदलते हालात में अल-कायदा और उनके सहयोगी संगठनों से दुनिया को खतरा बढ़ गया है।

बढ़ गया है खतरा
जो बाइडन ने कहा कि मैं दावे के साथ नहीं कह सकता कि तालिबान अंतर्राष्ट्रीय समुदाय द्वारा एक वैध सरकार का दर्जा प्राप्त करना चाहता है। अफगानिस्तान में हुए ताजा घटनाक्रम पर बाइडन ने कहा कि वर्तमान में अल-कायदा और उसके सहयोगी संगठनों से खतरा दुनिया के बाकी हिस्सों में अफगानिस्तान की तुलना में बढ़ गया है।

ये भी पढ़ेंः अफगानिस्तान में शरिया कानून से चलेगा शासन! ऐसे तय किए जाएंगे महिलाओं के अधिकार

अमेरिका को ज्यादा खतरा
जो बाइडन ने यह भी कहा कि सीरिया या पूर्वी अफ्रीका में अल-कायदा से संबंधित संगठनो की ओर से पैदा की गई समस्याओं को नजरअंदाज करना उचित नहीं है। विशेष कर अमेरिका के लिए खतरा बड़ा है।

सैन्य वापसी के फैसले पर दी सफाई
अमेरिकी राष्ट्रपति ने अफगानिस्तान से अपने सैनिकों की वापसी के फैसले का बचाव किया। उन्होंने कहा कि हमें इस बात पर विचार करना चाहिए कि सबसे बड़ा खतरा कहां है। सैन्य बल के माध्यम से दुनिया में महिलाओं के अधिकारों की रक्षा करने का प्रयास करना तर्कसंगत नहीं है। मानवाधिकारों का हनन करने वालों के व्यवहार में बदलाव लाने के लिए राजनयिक और अंतर्राष्ट्रीय दबाव के माध्यम से कोशिश की जानी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here