अमेरिका की कीव में फिर से दूतावास खोलने की तैयारी, सैन्य सहायता को लेकर किया ये वादा

अमेरिकी रक्षा सचिव लॉयड ऑस्टिन ने कीव का दौरा किया और यूक्रेन को और अधिक सैन्य सहायता का वादा किया।

युद्धग्रस्त यूक्रेन की राजधानी कीव में अमेरिका जल्द ही अपने दूतावास को फिर से खोलेगा। अमेरिका के शीर्ष राजनयिक एवं विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने 26 अप्रैल को कहा कि वे और अमेरिकी रक्षा सचिव लॉयड ऑस्टिन ने कीव का दौरा किया तथा यूक्रेन को और अधिक सैन्य सहायता का वादा किया। उन्होंने यूक्रेन को रूस को पीछे धकेलने में सफलता की सराहना की।

विदेश मंत्री और रक्षा सचिव यूक्रेन की राजधानी कीव गए
विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन और रक्षा सचिव लॉयड ऑस्टिन ने कहा कि वे यूक्रेन की राजधानी कीव गए थे। पिछले महीने कीव पर हमला करने वाले रूस को मजबूरन पीछे हटना पड़ा था। यह यूक्रेन की दृढ़ता का प्रमाण था।

ये भी पढ़ें – उप्र में 125 धार्मिक स्थलों से उतरवाए गए लाउडस्पीकर, इतने हजार मस्जिदों पर स्वेच्छा से कम की गई आवाज

रूसी आक्रमण को पीछे धकेलने में यूक्रेन की उपलब्धि
ऑस्टिन ने पोलैंड से ट्रेन यात्रा के बाद राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की से रात भर एक बैठक में कहा कि कीव की लड़ाई में रूसियों को खदेड़ने में आपने जो किया है वह असाधारण है और बाकी दुनिया के लिए प्रेरणादायक है। हम हर संभव आपका समर्थन करेंगे। वहीं ब्लिंकन ने कहा कि इस भयानक रूसी आक्रमण को पीछे धकेलने में यूक्रेन की उपलब्धि की जितनी प्रशंसा की जाए वह कम है। उन्होंने कहा कि रूस के युद्ध का उद्देश्य पहले ही विफल हो चुका है और यूक्रेन पहले ही सफल हो चुका है।

पोलैंड में यूक्रेन से वापस जाने पर ऑस्टिन ने एक ब्रीफिंग में कहा कि हम रूस को इस हद तक कमजोर देखना चाहते हैं कि वह उस तरह की चीजें नहीं कर सके, जो उसने यूक्रेन पर हमला करने में की है।

अमेरिकी अधिकारियों ने कहा कि दोनों ने यूक्रेन और इस क्षेत्र के अन्य देशों के लिए नई सहायता में 713 मिलियन डॉलर का वादा किया, जिसे रूसी खतरों के लिए संभावित रूप से कमजोर माना जाता है।

एक अधिकारी ने कहा कि यूक्रेन के लिए अतिरिक्त 322 मिलियन डॉलर की सैन्य सहायता, आक्रमण के बाद से कुल अमेरिकी सुरक्षा सहायता को लगभग 3.7 बिलियन डॉलर तक ले जाएगी।

वाशिंगटन में रूस के राजदूत ने कहा कि मास्को ने एक राजनयिक नोट भेजा था जिसमें यूक्रेन को अमेरिकी हथियारों की खेप को रोकने की मांग की गई थी।

यूक्रेन की सैन्य कमान ने सोमवार को एक फेसबुक पोस्ट में कहा कि रूस अपने रेल बुनियादी ढांचे पर बमबारी करके अपने सहयोगियों से यूक्रेन को हथियारों की आपूर्ति को बाधित करने की कोशिश कर रहा था।

यूक्रेन के पांच रेलवे स्टेशन को बनाया निशाना
रूसी सेना ने सोमवार को यूक्रेन के पांच रेलवे स्टेशनों को निशाना बनाया। इन हमलों में दर्जनों लोगों के मारे जाने की आशंका है। जिन रेलवे स्टेशनों को निशाना बनाया गया वे मध्य और पश्चिमी यूक्रेन के हैं। इस बीच रूस के सीमावर्ती ब्रियांस्क इलाके में तेल भंडार में आग लगने की खबर है। इस अग्निकांड में किसी के घायल होने या मरने की खबर नहीं है।

हमले में बड़ा नुकसान
यूक्रेन के क्रिमेनचुक इलाके में रूसी सेना ने एक तेलशोधक कारखाने (रिफाइनरी) और बिजलीघर पर मिसाइलों से हमला किया है। इस हमले में बड़े नुकसान के साथ एक व्यक्ति के मरने की खबर है। रूसी सेना ने मध्य यूक्रेन के विनित्सिया क्षेत्र के दो कस्बों पर भी राकेट से हमला किया।

सैनिकों और नागरिकों पर मिसाइलों और बमों से हमले जारी
इस बीच यूक्रेनी सेना के जनरल स्टाफ ने बताया है कि मारियुपोल की अजोवस्टाल स्टील फैक्टरी के भीतर मौजूद सैनिकों और नागरिकों पर मिसाइलों और बमों से हमले जारी हैं। फैक्टरी में करीब दो हजार सैनिक और एक हजार नागरिक फंसे हुए हैं। नागरिकों ने यूक्रेन सरकार और अंतरराष्ट्रीय जगत से मदद की गुहार लगाई है। रूस ने इन सभी से समर्पण करने के लिए कहा है लेकिन वे समर्पण करने के लिए तैयार नहीं हो रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here