किस सदमें में सनका पाकिस्तान? केंद्रीय मंत्री ने बताए कारण

संयुक्त राष्ट्र संघ में फजीहत से खीजे पाकिस्तान ने भारत को लेकर उलटी पुलटी बयानबाजी शुरू कर दी है। इसको लेकर केंद्रीय गृहमंत्री अनुराग ठाकुर ने सरकार का पक्ष रखा है।

anurag thakur
The Union Minister for Information & Broadcasting, Youth Affairs and Sports, Shri Anurag Singh Thakur holding a press conference on Cabinet Decisions, in New Delhi on July 22, 2021.

केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने सोमवार को कहा कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आतंक की फंडिंग पर कड़ी कार्रवाई के लिए मोदी सरकार ने दुनिया के देशों को एकजुट किया है। पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए अनुराग ठाकुर ने कहा कि जो देश बिलबिला रहे हैं उसका कारण सरकार की आतंकवाद के खिलाफ कड़ी नीतियां हैं। उन्होंने कहा कि दुनिया में भारत की छवि एक मददगार देश की बनी है। वहीं पड़ोसी देश की छवि आतंकवाद को बढ़ावा देने वाले देश के तौर पर बनी है। उनका चेहरा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बेनकाब हुआ है।

सोमवार को आतंकवाद के खिलाफ सरकार की नीतियों को लेकर आयोजित प्रेस वार्ता में उन्होंने बताया कि, वर्ष 2014 के बाद से आतंकियों को ठिकाने लगाने के लिए हमारी सेना ने लगातार काम किया है। जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद की घटनाओं में अप्रत्याशित कमी आई है। वहीं, आतंकवादियों को पैसा मुहैया करवाने वाले लोगों को सजा दिलाने की दर 94 प्रतिशत रही है।

उत्तर पूर्वी राज्यों में शांति का युग
ठाकुर ने कहा कि उत्तर पूर्वी राज्यों में शांति का युग लौटा है। साल 2014 के बाद उग्रवादी हिंसा में 80 प्रतिशत की गिरावट आई है। साल 2014 के बाद उग्रवादी घटनाओं में नागरिकों की मौत में 89 प्रतिशत की कमी आई है। साल 2014 के बाद 6000 उग्रवादियों ने आत्मसमर्पण किया है। उन्होंने कहा कि सशस्त्र बल (विशेष शक्तियां) अधिनियम (एएफएसपीए) को नॉर्थ ईस्ट के ज्यादातर जगहों से हटा दिया गया। असम के भी 60 प्रतिशत जगहों से हटाया गया। 2015 के बाद उग्रवादी घटनाओं मे 265 प्रतिशत की कमी आई हैं।

राहुल गांधी पर साधा निशाना
अनुराग ठाकुर ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि राहुल जी चीन के अधिकारियों के साथ दिखते हैं। उनसे फंडिंग लेते हैं। डोकलाम पर प्रश्न खड़ा करते हैं। क्या राहुल जी चाइना से फंडिंग नहीं ली, वो क्यों चुप हैं। ये अपनी सेना पर प्रश्न चिह्न खड़े करने वाले हैं।

ये भी पढ़ें – बेलगांव सीमा विवाद: दादा को मुख्यमंत्री ने ऐसा सुनाया

रेस्क्यू ऑपरेशन का ब्योरा
केंद्रीय मंत्री अनुराग ने रेस्क्यू ऑपरेशन पर बात करते हुए कहा कि ऑपरेशन गंगा के अंतर्गत वर्ष 2021-22 में यूक्रेन में फंसे 22 हजार 500 भारतीय नागरिकों को लाया गया। वर्ष 2021 में ऑपरेशन देवी शक्ति के अंतर्गत अफगानिस्तान से 670 नागरिक लाए गए थे। कोरोना महामारी के दौरान वंदे भारत के जरिए 01 करोड़ 83 लाख लोगों को स्वदेश लाया गया। भारत ने केवल अपने ही नागरिकों की नहीं बल्कि विदेशी लोगों की भी जान बचाई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here