महाविकास आघाड़ी साथ मिलकर काम करेगी : उद्धव ठाकरे

सरकार जाने के बाद भी दोस्ती वैसी ही है, यह जाहिर करते हुए शिवसेना पक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे महाविकास आघाड़ी की बैठक में पहुंचे थे।

शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने कहा कि महाविकास आघाड़ी साथ मिलकर काम करेगी। उन्होंने कहा कि इस समय शिवसेना संकट के दौर से गुजर रही है लेकिन यह संकट कोरोना के संकट से बड़ा नहीं है। महाविकास आघाड़ी ने साथ मिलकर कोरोना जैसे संकट का सामना किया था, जब सभी लोग घर में दुबके बैठे थेलेकिन किसी भी तरह का अनुभव न होते हुए भी महाविकास आघाड़ी सरकार ने इस संकट का डटकर सामना किया और कोरोना के संकट से राज्य को उबारा था।

उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद पहली बार विधानभवन में आयोजित महाविकास आघाड़ी के सहयोगी दलों की बैठक में शामिल हुए। उन्होंने कहा कि आज महाविकास आघाड़ी की बैठक में महत्वपूर्ण मुद्दों पर बैठक हुई है, इसकी जानकारी मीडिया को मिल जाएगी। उन्होंने कहा कि महाविकास आघाड़ी बहुत जल्द अपनी नीतियां साफ करेगी और देश में लोकशाही की रक्षा के लिए अहम काम करेगी। उद्धव ठाकरे ने कहा कि किसी भी कीमत पर तानाशाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

यह भी पढ़ें – बेनामी संपत्ति के लिए तीन वर्ष की सजा के कानून पर सर्वोच्च न्यायालय ने सुनाया बड़ा फैसला

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष जयंत पाटिल ने कहा कि इस बैठक में महाविकास आघाड़ी के सहयोगी दलों के नेताओं ने कई मुद्दों पर चर्चा की है। आगामी चुनाव साथ मिलकर लड़ने के संबंध में भी चर्चा की गई है। इस संबंध में बहुत जल्द तीनों सहयोगी दल के नेताओं के बीच महत्वपूर्ण निर्णय लिए जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here