“ये वो लोग हैं, जिन्होंने उत्तर प्रदेश को…!” पीएम ने यूपी की पूर्व सरकारों पर बोला हमला

प्रधानमंत्री ने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में 2095 करोड़ रुपये की तमाम परियोजनाओं की आधारशिला और लोकार्पण के बाद एक विशाल जनसभा को संबोधित किया।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 23 दिसंबर को उत्तर प्रदेश की पूर्व सरकार और विपक्षी राजनीतिक दलों पर तीखा प्रहार करते हुये कहा कि ये वे लोग हैं, जिन्होंने उत्तर प्रदेश को सिर्फ जाति, मजहब, पंथ, के चश्मे से ही देखा। इन्होंने कभी नहीं चाहा कि प्रदेश का विकास हो, सूबे की आधुनिक पहचान बने।

पीएम ने बिना किसी विपक्षी दल का नाम लिए इशारों ही इशारों में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और समाजवादी पार्टी (सपा) के शासनकाल में सूबे की कानून व्यवस्था की याद दिलाई। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों में परिवारवाद और माफियावाद का बोल-बाला रहा।

2095 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की आधारशिला और लोकार्पण
प्रधानमंत्री अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में 2095 करोड़ रुपये की तमाम परियोजनाओं की आधारशिला और लोकार्पण के बाद एक विशाल जनसभा को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने विपक्षी दलों पर हमला जारी रखते हुए कहा उत्तर प्रदेश के विपक्षी दलों में सबको साथ लेकर चलने की परंपरा नहीं रही है। सबका साथ, सबका विश्वास उनकी भाषा और सिलेबस से बाहर है।

परिवारवाद और माफियावाद को दिया बढ़ावा
मोदी ने विपक्षी दलों पर हमले की धार को तेज करते हुये कहा कि इन दलों की डिक्शनरी और सिलेबस में सिर्फ और सिर्फ माफियावाद, परिवारवाद है। उनकी सोच और कार्यशैली में घरों-जमीनों पर अवैध कब्जा करना शामिल है।

तब की और अब की सरकार में अंतर साफ दिख रहा है
प्रधानमंत्री ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार और केंद्र की जुगलबंदी से सूबे में हुये विकास कार्यों की फेहरिस्त गिनाते हुये कहा कि पहले की सरकारों के समय उप्र के लोगों को जो मिला और आज उप्र के लोगों को हमारी सरकार से जो मिल रहा है, उसका फर्क साफ है। हम सूबे में विरासत को भी बढ़ा रहे हैं और राज्य का विकास भी कर रहे हैं।

ये भी पढ़ेंः वसीम रिजवी ने की थी पैगंंबर मोहम्मद साहब पर टिप्पणी, अब ऐसे बढ़ रही है परेशानी

डबल इंजन की बात कुछ लोगों को नहीं पचती है
मोदी ने कहा कि जब वे काशी और उप्र के विकास में डबल इंजन की डबल शक्ति की बात करते हैं तो कुछ लोगों को कष्ट ज्यादा ही हो जाता है। समझा जा रहा कि उनका इशारा सपा प्रमुख अखिलेश यादव की तरफ था। प्रधानमंत्री ने कहा कि ये वे लोग हैं जिन्हें केवल अपना और परिवार का स्वार्थ नजर आता है और उप्र का विकास पसंद नहीं आ रहा है। मोदी ने जोर देकर कहा कि हालात तो ये हैं कि इन लोगों को पूर्वांचल के विकास से, बाबा विश्वनाथ धाम से भी आपत्ति होने लगी है।

जैसे-जैसे आशीर्वाद बढ़ेगा …
प्रधानमंत्री ने आने वाले दिनों में खुद पर होने वाले विपक्षी हमलों और आरोपों में तेजी आने का संकेत देते हुये कहा कि उत्तर प्रदेश को दशकों पीछे धकेलने वाले इन लोगों की नाराजगी अभी और बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि जिस तरह पूरे उप्र के लोग भाजपा को आशीर्वाद दे रहे हैं और जैसे-जैसे आशीर्वाद बढ़ता जाएगा, विपक्षी दलों का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंचेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here