1 मई से 18 प्लस लोगों के लिए टीकाकरण शुरू किए जाने पर संशय!

1 मई से 18 प्लस लोगों के लिए टीकाकरण अभियान चलाने में मुंबई और दिल्ली ने असमर्थता जताई है।

केंद्र सरकार ने 1 मई से 18-44 के बीच की उम्र के लोगों के लिए टीकाकरण अभियान चलाने की घोषणा की है। इसे लेकर लोगों में भारी उत्साह भी देखा जा रहा है लेकिन देश के कई राज्य सरकारों के साथ ही केंद्र शासित प्रदेश दिल्ली भी इसके लिए तैयार नहीं दिख रही है। देश की राजधानी के साथ ही देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में भी 1 मई से टीकाकरण अभियान चलाने की तैयारी नहीं दिख रही है।

मुंबई में टीका की उपलब्धता नहीं
मुंबई महानगरपालिका की अतिरिक्त आयुक्त अश्विनी भिड़े ने ट्वीट कर इस बारे में जानकारी दी है। भिड़े ने कहा है कि नए आयु वर्ग का टीकाकरण वैक्सीन उपलब्ध होने के बाद ही हो पाएगा। इसकी शुरुआत 1 मई से नहीं हो पाएगी। हालांकि उन्होंने बुजुर्गों का टीकाकरण पहले की तरह जारी रहने की बात कही है। भिड़े ने कहा कि हम जल्द ही नए आयुवर्ग के लोगों के टीकाकरण के बारे में जानकारी देंगे।

ये भी पढ़ेंः कोरोना से दादागिरी! पढ़ें महाराष्ट्र के 105 वर्षीय दादाजी ने कैसे जीती जिंदगी

दिल्ली ने भी हाथ खड़े किए
इससे पहले दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने भी 1 मई से टीकाकरण शुरू करने में असमर्थता जताई है। उन्होंने 29 अप्रैल को कहा कि राजधानी में कोरोना वैक्सीन की उपलब्धता की कमी है। हमें फिलहाल वैक्सीन कंपनियों द्वारा वैक्सीन सप्लाई किए जाने का इंतजार है। वैक्सीन मिलने के बाद लोगों को टीकाकरण के बारे में सूचित किया जाएगा। जैन ने कहा कि अभी तक तो कंपनियों ने वैक्सीन सप्लाई का शिड्यूल भी नहीं बताया है।

इन राज्यों में भी अभी टीकाकरण नहीं
बता दें कि इससे पहले झारखंड, पंजाब, राजस्थान और छत्तीसगढ़ जैसे कई राज्यों ने वैक्सीन सप्लाई नहीं होने के कारण 1 मई से टीकाकरण अभियान चलाने में असमर्थता जताई है।
हालांकि केंद्र सरकार का कहना है कि राज्यों के पास 1 करोड़ से ज्यादा डोज मौजूद हैं और जल्द ही 20 लाख डोज और उपलब्ध कराए जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here