गिरफ्तारी से राहत नहीं… अनिल देशमुख की बढ़ी दिक्कत

सौ करोड़ रुपए की धन उगाही कराने के लिए अधिकारियों पर दबाव बनाने का आरोप झेल रहे अनिल देशमुख के सामने अब बड़ा संकट खड़ा हो गया है।

महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख पर अब गिरफ्तारी की तलवार मंडरा रही है। सर्वोच्च न्यायालय में दायर उनकी याचिका पर न्यायालय ने कोई राहत नहीं दी है। इस बीच अनिल देशमुख और उनके पुत्र के नाम प्रवर्तन निदेशालय ने नया समन जारी किया है।

अनिल देशमुख और उनके पुत्र हृषिकेश देशमुख को सोमवार को प्रवर्तन निदेशालय के सामने प्रस्तुत होना है। अनिल देशमुख ने सर्वोच्च न्यायालय में याचिका दायर करके केंद्रीय एजेंसियों द्वारा की जानेवाली किसी भी जबरदस्ती की कार्रवाई से राहत मांगी थी। परंतु, मनी लॉन्ड्रिंग के प्रकरण में सर्वोच्च न्यायालय ने कोई राहत नहीं दिया है।

ये भी पढ़ें – तो पन्नू के प्यादों को पड़ेगी लट्ठ!

अनिल देशमुख के विरुद्ध मनी लॉन्ड्रिंग प्रकरण की जांच प्रवर्तन निदेशालय कर रहा है। यह प्रकरण ऑर्केस्ट्रा बार और बीयर बार से धन उगाही का है। आरोपों के अनुसार 4.7 करोड़ रुपए की वसूली कराई गई थी। यह धन उगाही सचिन वाझे की माध्यम से कराई गई थी। आरोप है कि तत्कालीन गृह मंत्री अनिल देशमुख के आदेशों पर ही यह वसूली की गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here