गुजरात चुनाव 2022ः प्रचार में पहुंचे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी सहित भाजपा के ये कद्दावर नेता

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने बताया कि पार्टी की यह पुरानी परम्परा रही है। एक राज्य के नेता दूसरे राज्य में जाते रहे हैं।

गुजरात विधानसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश भाजपा के कद्दावर नेता भी चुनाव प्रचार करने पहुंच रहे हैं। इनमें प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं दोनों उपमुख्यमंत्री समेत कई मंत्री एवं पूर्व मंत्री और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष भी शामिल हैं। उत्तर प्रदेश से पार्टी कार्यकर्ताओं की एक बड़ी टीम गुजरात पहुंच चुकी है। इन्हें प्रचार-प्रसार के लिए अलग-अलग क्षेत्रों में जिम्मेदारी दी जा रही है।

उत्तर प्रदेश भाजपा के पूर्व अध्यक्ष एवं झारखंड के प्रभारी डॉ. लक्ष्मीकांत बाजपेयी अपने लंबे राजनीतिक अनुभवों के साथ गुजरात के चुनाव में योगदान देंगे। पूर्व मंत्री सुरेश राणा को भी पार्टी ने गुजरात भेजा है। पूर्व प्रदेश अध्यक्ष एवं योगी सरकार में जलशक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह, सहकारिता राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) जेपीएस राठौर, राज्यसभा सदस्य विजय पाल तोमर के साथ ही कई अन्य भाजपा नेता गुजरात में चुनाव प्रचार का मोर्चा संभालेंगे। मीडिया का कार्य देखने के लिए उत्तर प्रदेश की धरती से भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी, देवरिया के विधायक शलभ मणि त्रिपाठी और अंकुश त्रिपाठी जाएंगे। कुछ लोग गुजरात पहुंच गए हैं। बाकी लोग जल्द ही जाने वाले हैं। गुजरात में चुनाव प्रचार के लिए उत्तर प्रदेश के प्रवासी कार्यकर्ताओं को भी लगाया गया है। इसके लिए पार्टी की तरफ से प्रदेश उपाध्यक्ष प्रकाश पाल को प्रवासी कार्यकर्ताओं का प्रभारी बनाया गया है। सह प्रभारी के रूप में शंकर गिरी कार्य कर रहे हैं।

नरेंद्र मोदी के नाम पर लड़ा जाएगा चुनाव
गुजरात का चुनाव प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के व्यक्तित्व के इर्द-गिर्द ही रहने वाला है। बावजूद इसके पार्टी के स्टार प्रचारकों के चुनावी कार्यक्रम लगाए जाएंगे। इसी कड़ी में भाजपा के फायरब्रांड नेता एवं उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के भी दौरे होंगे। गुजरात चुनाव में उनकी कई चुनावी सभाएं होंगी।

यह भी पढ़ें – तेलंगाना का ‘टाइगर’ आउट, विधायक टी. राजा ने निकलते ही लगाई ये दहाड़

पार्टी की परंपरा का पालन
भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने बताया कि पार्टी की यह पुरानी परम्परा रही है। एक राज्य के नेता दूसरे राज्य में जाते रहे हैं। गुजरात में बड़ी संख्या में उप्र के लोग रहते हैं। इसलिए प्रवासी कार्यकर्ता के रूप में हमारी एक टीम गुजरात चुनाव में काम कर रही है। रही बात मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तो उन्होंने अपने कार्य के बलबूते उत्तर प्रदेश की सत्ता में दोबारा वापसी की है। प्रधानमंत्री मोदी की मंशा के अनुरूप योगी के नेतृत्व की सरकार में ही अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण हो रहा है। भव्य विश्वनाथ कॉरिडोर, मेडिकल कॉलेजों की स्थापना, कोविड के खिलाफ जंग, अपराधियों पर सख्त कार्रवाई जैसे बहुत से मुद्दे हैं जिसको लेकर गुजरात की जनता योगी को सुनना चाह रही है। इससे पहले भी मुख्यमंत्री योगी कई राज्यों में चुनावी सभाएं कर चुके हैं। हिमाचल चुनाव में भी उनके कई कार्यक्रम लग चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here