विश्व में दम, मोदी के हर कदम! जानिये, प्रधानमंत्री का क्यों मानती है दुनिया लोहा

एक तरफ अफगानिस्तान से सैन्य वापसी के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन की छवि को पूरी दुनिया के साथ ही अपने देश में भी भारी नुकसान पहुंचा है, तो वहीं इस पूरे संकट के दौर में और अन्य सकारात्मक फैसलों के कारण भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता शीर्ष पर पहुंच गई है।

दुनिया भर की सर्वे कंपनियों पर नजर डालें तो यह कहना मुश्किल नहीं है कि पीएम मोदी वर्तमान में दुनिया भर में सबसे प्रभावशाली नेता हैं। 17 सितंबर, उनके जन्मदिन पर यह देश के लिए गर्व की बात है।

ताजा जानकारी यह है कि प्रतिष्ठित टाइम मैगजीन की साल 2021 के 100 प्रभावशाली हस्तियों की सूची में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम शामिल किया गया है। इनके आलावा इस सूची में बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और वैक्सीन किंग के नाम से दुनिया भर में मशहूर सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला का भी नाम शामिल है।

आसमान में लोकप्रियता
एक तरफ अफगानिस्तान से सैन्य वापसी के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन की छवि को पूरी दुनिया के साथ ही अपने देश में भी भारी नुकसान पहुंचा है, तो वहीं इस पूरे संकट के दौर में और अन्य सकारात्मक फैसलों के कारण भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता शीर्ष पर पहुंच गई है। हाल ही में वे अप्रूवल रेटिंग में दुनिया के सभी नेताओं को पछाड़ते हुए पहले नंबर पर आ गए हैं।

इन नेताओं को छोड़ा पीछे
पीएम मोदी ने जिन नेताओं को पछाड़ा, उनमें अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन, जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल, कनाडा के पीएम जस्टिन टूडो आदि दिग्गज नेता शामिल हैं। मोदी की अप्रूवल रेटिंग 70 प्रतिशत है, जो अन्य विश्व के नेताओं में सबसे अधिक है। द मॉर्निंग कंसल्ट के सर्वे में यह दावा किया गया है।

अन्य महत्वपूर्ण स्थान पर ये नेता
मॉर्निंग कन्सल्ट के सर्वे में दूसरे नंबर मैक्सिको के राष्ट्रपति आंद्रे मैनुएल लोपेज ओब्रेडर है, उनकी अप्रूवल रेटिंग 64 प्रतिशत है, जबकि इटली के प्रधानमंत्री मारियो द्राघी तीसरे स्थान पर हैं, उनकी अप्रूवल रेटिंग 63 प्रतिशत है।

ये भी पढ़ेंः तो छिन जाएगी ममता बनर्जी से मुख्यमंत्री की कुर्सी

अप्रूवल रेटिंग में सुधार
इसी वर्ष जून में जारी रेटिंग अप्रूवल की अपेक्षा पीएम मोदी के रेटिंग अप्रूवल में सुधार आया है। जून में पीएम मोदी की अप्रूवल रेटिंग 66 प्रतिशत थी। पीएम की अप्रूवल रेटिंग में सुधार आने के साथ ही डिसअप्रूवल रेटिंग में भी गिरावट आई है। लगभग 25 प्रतिशत की गिरावट के साथ अब लिस्ट में सबसे निचले स्थान पर हैं।

अप्रूवल  रेटिंग में शामिल किए गए विश्व के नेता
नरेंद्र मोदी-70,लोपे ओब्रेडर-64, मारियो द्राघी-63, एंजेला 53,जो बाइडन 48,स्कॉट मॉरिसन-48, जस्टिन टूडो-45, बोरिस जॉनसन-41, जोर बोल्सोनोरो-39, पेड्रो सांचेज-35,इमैनुएल मैक्रो-34 और योशिहिदे सुगा-25 प्रतिशत।

ट्विटर पर सात करोड़ फॉलोअर्स
इससे पहले जुलाई में भी पीएम ने बड़ी उपलब्धी हासिल की थी। पीएम एक बड़ी उपलब्धि के साथ विश्व के पहले प्रख्यात राजनेता बने थे। ट्विटर पर उनके सात करोड़ फॉलोवर्स हो गए थे। इसके पहले भी विभिन्न पत्र पत्रिकाओं और रेटिंग एजेंसियां नरेंद्र मोदी की ख्याति पर अपनी महर लगा चुकी हैं।

नरेंद्र मोदी गुजरात का मुख्यमंत्री रहते हुए वर्ष 2009 से ट्विटर का उपयोग कर रहे हैं। उस समय उनके एक लाख फॉलोअर्स थे। प्रधानमंत्री बनने के बाद इसके उपयोग में बढ़ोतरी हुई और फॉलोअर्स भी बढ़े। मोदी के बाद प्रख्यात विभूतियों में ईसाई धर्मगुरु पोप फ्रांसिस का क्रम हैं, जिनके 5 करोड़ 30 फॉलेवर्स हैं। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन के 3 करोड़ 90 लाख फॉलोअर्स हैं।

पहले भी दर्ज हैं कई रिकॉर्ड

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम पहले भी रिकॉर्ड में दर्ज हो चुका है। उसमें गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड भी शामिल है।

मोनोग्राम वाला सबसे महंगा सूट
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपना नाम अंकित किया हुआ एक सूट पहना था, जिसे बाद में नीलाम कर दिया गया। इसे गुजरात के एक व्यापारी ने 4.3 करोड़ रुपए में खरीदा था। इसे गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में सबसे महंगे सूट के रूप में जगह मिली थी।

3-डी ब्रॉडकास्ट का गिनीज बुक में रिकॉर्ड
गुजरात का मुख्यमंत्री रहते हुए नरेंद्र मोदी का नाम 10 दिसंबर, 2012 को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हो गया। मुख्यमंत्री मोदी ने 3-डी तकनीकी के माध्यम से एक साथ 53 स्थानों पर लोगों को 55 मिनट तक संबोधित किया। यह संबोधन 3-डी होलोग्राफिक प्रोजेक्शन तकनीकी के माध्यम से था।

मोदी के जन्मदिन पर दर्ज तीन रिकॉर्ड
17 सितंबर, 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 66वें जन्मदिन पर तीन गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज हुए।

दिव्यांगों द्वारा सबसे अधिक दीप प्रज्वलन
इसमें पहला है, 989 दिव्यांग लोगों द्वारा एक साथ, एक स्थान पर दीये प्रज्जविलत करने का। इसके लिए कम से कम 500 दिव्यांगों को हिस्सा लेना था, जबकि लगभग दोगुने लोगों ने हिस्सा लिया।

सबसे अधिक लोगों के साथ व्हील चेयर लोगो
इसी कार्यक्रम में एक व्हील चेयर लोगो कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें 1000 दिव्यांगों ने हिस्सा लिया। यह विश्व में रिकॉर्ड स्थापित करनेवाला सबसे अधिक व्हील चेयर लोगो के रूप में दर्ज हुआ।

8 घंटे में 600 लोगों को लगाया गया श्रवण यंत्र
तीन नए रिकॉर्डों में से एक रिकॉर्ड बघिर लोगों को श्रवण यंत्र लगाने का भी था। 8 घंटे में 600 लोगों को नि:शुल्क सुनने का यंत्र लगाया गया। इसे विश्व रिकॉर्ड के रूप में स्थान मिला।

लंबे काल तक प्रधानमंत्री रहनेवाले गैर कांग्रेसी नेता
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम एक और रिकॉर्ड दर्ज है, जिसके अनुसार वे गैर कांग्रेसी दल के सबसे लंबे कार्यकाल तक सत्ता में रहनेवाले पहले प्रधानमंत्री हैं। इसके पहले यह रिकॉर्ड तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम दर्ज था। अटल बिहार वाजपेयी 2,268 दिन तक प्रधानमंत्री रहे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here