महाराष्ट्र में मध्यावधि चुनाव के संकेत

उद्धव ठाकरे ने कार्यकर्ताओं का मार्गदर्शन करते हुए कहा कि किसी भी वक्त चुनाव हो सकते हैं, इसलिए कार्यकर्ताओं को तैयार रहना चाहिए।

महाराष्ट्र में मध्यावधि चुनाव के संकेत मिलने लगे हैं। 5 नवंबर को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) अध्यक्ष शरद पवार और शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) पार्टी के अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने पार्टी कार्यकर्ताओं को चुनाव की तैयारी का आदेश दिया है। इसके साथ ही विपक्ष ने शिंदे सरकार पर हमले भी तेज कर दिए हैं, इससे मध्यावधि चुनाव की संभावना व्यक्त की जाने लगी है।

उद्धव ठाकरे ने 5 नवंबर को मुंबई में विधानसभा संपर्क प्रमुखों की बैठक बुलाई थी। इस दौरान उद्धव ठाकरे ने कार्यकर्ताओं का मार्गदर्शन करते हुए कहा कि किसी भी वक्त चुनाव हो सकते हैं, इसलिए कार्यकर्ताओं को तैयार रहना चाहिए। उद्धव ठाकरे ने कहा कि गुजरात चुनाव से पहले महाराष्ट्र में 4 बड़े प्रोजेक्ट गुजरात गए हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राज्य की जनता को विश्वास दिलाने के लिए दो पैकेजों का ऐलान किया है। इससे लग रहा है कि राज्य में मध्यावधि चुनाव होने की संभावना है।

ये भी पढ़ें – महाराष्ट्र की सेवा में हमेशा उपलब्ध – मुख्य न्यायाधीश यू.यू ललित

कार्यकर्ताओं को चुनाव की तैयारी का आदेश
इसी तरह अहमदनगर जिले के शिर्डी में राकांपा की बैठक में भी शरद पवार ने कार्यकर्ताओं को चुनाव की तैयारी का आदेश दिया है। शरद पवार शनिवार को मुंबई के ब्रीचकैंडी अस्पताल से सीधे शिर्डी गए थे और सिर्फ चार मिनट का अल्प भाषण दिया था। हालांकि राकांपा प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटिल ने कहा कि वर्तमान शिंदे-फडणवीस सरकार से सत्तापक्ष के कई विधायक नाराज हैं, इसलिए वर्तमान सरकार चंद महीने में गिर जाएगी और कार्यकर्ताओं को चुनाव के लिए तैयार रहना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here