न पार्टी न पवार, बैनर पर सिर्फ आह्वाड?

नागपुर में इस समय महाराष्ट्र सरकार का शीतकालीन सत्र चल रहा है। इसलिए ऑरेंज सिटी की सड़कों पर हमेशा की तरह विभिन्न पार्टियों के नेताओं के स्वागत वाले बैनर लगाए गए हैं।

इन दिनों राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी में अंदरूनी कलह काफी तेज हो गई है। इसका कारण यह है कि पार्टी में नाराजगी का माहौल है। यह नाराजगी अब सीधे तौर पर पार्टी नेता शरद पवार को लेकर देखी जा रही है। कल तक अजीत पवार ने खुलकर पार्टी में इस तरह की नाराजगी जाहिर की थी। अब नागपुर में लगे एक बैनर में पार्टी से जितेंद्र आह्वाड की नाराजगी दिख रही है।

बैनर चर्चा में आया
नागपुर में इस समय महाराष्ट्र सरकार का शीतकालीन सत्र चल रहा है। इसलिए ऑरेंज सिटी की सड़कों पर हमेशा की तरह विभिन्न पार्टियों के नेताओं के स्वागत वाले बैनर लगाए गए हैं। राकांपा नेता जितेंद्र आव्हाड के स्वागत में ऐसा ही एक बैनर इस समय ध्यान खींच रहा है। इस बैनर में पहले अजीत पवार, फिर सांसद सुप्रिया सुले, सांसद प्रफुल्ल पटेल, प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटील और अंत में छगन भुजबल की फोटो है। लेकिन इसमें राकांपा प्रमुख शरद पवार की फोटो नहीं है। एनसीपी नेताओं का बैनर हो या पार्टी का बैनर, सड़क से लेकर दिल्ली तक एनसीपी के किसी भी बैनर पर शरद पवार की फोटो प्रमुखता से दिखती है। इसके साथ ही आव्हाड को शरद पवार के बेहद वफादार माना जाता है। उनके बैनर पर शरद पवार की फोटो नहीं है। इस बात को लेकर नागपुर में एक चर्चा गरम हो गई है। दिलचस्प बात यह है कि इस बैनर पर एनसीपी का नाम तक नहीं है। इसलिए चर्चा है कि क्या एनसीपी में नाराज लोगों की सूची में जितेंद्र आव्हाड का नाम भी शामिल हो गया है।

रोहित पवार को लेकर भी थी चर्चा
इससे पहले अजीत पवार कई बार खुलकर अपनी नाराजगी जाहिर कर चुके हैं। उसके बाद शरद पवार के जन्मदिन पर पूरा पवार परिवार इकट्ठा हुआ था, लेकिन विधायक रोहित पवार नदारद थे। उसके बाद चर्चा शुरू हो गई थी कि क्या रोहित पवार भी नाराज नेताओं की सूची में शामिल हो गए हैं?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here