लोग बेरोजगार हो रहे हैं लेकिन मोदी को विश्व गुरु बनना है! मल्लिकार्जुन खड़गे ने साधा केंद्र पर निशाना

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने जहां अपनी कई याजनाओं की बदौलत 27 प्रतिशत लोगों को गरीबी से बाहर लाने में सफलता प्राप्त की थी, वहीं मोदी सरकार ने 23 प्रतिशत लोगों को फिर से गरीबी के दलदल में धकेल दिया है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने मुंबई में एक संवाददाता सम्मेलन में बोलते हुए कहा कि कांग्रेस ने जहां अपनी कई याजनाओं की बदौलत 27 प्रतिशत लोगों को गरीबी से बाहर लाने में सफलता प्राप्त की थी, वहीं मोदी सरकार ने 23 प्रतिशत लोगों को फिर से गरीबी के दलदल में धकेल दिया है।
खड़गे ने आरोप लगाया कि एक साल में देश में 98 लाख नौकरियां चली गई हैं, लेकिन मोदी को विश्व गुरु बनना है।

कहां हैं अच्छे दिन?
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा कि भाजपा सरकार की नीतियों का खामियाजा गरीब जनता को भुगतना पड़ रहा है। एक तरफ जहां कोविड का संकट है तो दूसरी तरफ लोग चरम महंगाई का सामना कर रहे हैं। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि वे देश के लोगों को सुखी रखेंगे। उन्होंने इसी मुद्दे पर वोट मांगा था। लेकिन लगता है, वे अब इसे भूल गए हैं।

ईंधन के दामों में विस्फोट
मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि देश में पेट्रोल और डीजल के दाम तेजी से बढ़ रहे हैं। पेट्रोल की कीमतों में बढ़ोतरी से आम जनता त्रस्त है और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी से किसानों को आर्थिक नुकसान हो रहा है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट के बावजूद देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी हो रही है। पिछले दो महीने में इन दरों में 38 गुना वृद्धि हुई है। केंद्र सरकार ईंधन की कीमतों पर सेस लगा रही है। यह किसी राज्य को नहीं दिया जाता है और केंद्र सरकार के खजाने में जाता है। केंद्र सरकार ने पेट्रोल पर कर लगाकर 25 लाख करोड़ रुपये कमाए, लेकिन किसी भी राज्य को कोई राजस्व नहीं दिया। इसके साथ ही खड़गे ने कई मुद्दों पर केंद्र की आलोचना की , जिसमें यह भी शामिल है कि तीन महीने से किसी को सिलेंडर पर सब्सिडी नहीं दी गई।

सरकार के पास नहीं है कोरोना से मौत के आंकड़े
कांग्रेस नेता ने कहा कि पिछले 7 महीनों से अधिक समय से दिल्ली सीमा पर किसान अपनी मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे हैं। कांग्रेस नेता ने आंदोलन को समाप्त करने के लिए कोई प्रयास नहीं किए जाने के लिए केंद्र सरकार की आलोचना की। उन्होंने कहा कि देश में कोरोना से बड़ी संख्या में मौतें हुई हैं। लेकिन केंद्र सरकार के पास कोरोना मरीजों की संख्या और इससे होने वाली मौतों के आंकड़े नहीं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here