टिकैत का टूलकिट? बाइडेन को लिखा ट्वीट और ट्विटर पर होने लगे ट्रोल

राकेश टिकैत संयुक्त किसान मोर्चा के बैनर तले प्रदर्शन कर रहे हैं। ये प्रदर्शन तीन संशोधित कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग के लिए किया जा रहा है।

किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत का एक ट्वीट उन्हें महंगा पड़ रहा है। इसके विरुद्ध ट्विटर यूजर्स ने मोर्चा खोल दिया है, लोगों ने आरोप लगाया है कि राकेश टिकैत ऐसे विपक्ष के प्रभाव में कर रहे हैं। कई लोगों ने तो इसे देश की छवि धूमिल करने का प्रयत्न बताया है। यह विपक्ष का टूलकिट हो सकता है, ऐसा आरोप ट्विटर यूजर लगा रहे हैं।

अमेरिका के न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक हो रही है। इस बैठक में सम्मिलित होने के लिए भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी न्यूयॉर्क में हैं। प्रधानमंत्री की अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन से भेंट होनी है। इसके पहले किसान यूनियम के नेता राकेश टिकैत ने एक ट्वीट राष्ट्रपति जो बाइडेन को किया है। जिसमें वे लिखते हैं…

ये भी पढ़ें – एलपीजी सिलेंडर पर महंगाई का डबल डोज!

प्रिय @POTUS, हम भारतीय किसान पीएम मोदी सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि सुधार कानूनों के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं। पिछले 11 माह में 700 किसानों की मौत हुई है। इन काले कानूनों को समाप्त करके हमें बचाया जा सकता है। कृपया पीएम मोदी से भेंट के दौरान हमारे मुद्दों पर गौर करें।

रमाकान्त नामक एक ट्विटर यूजर ने टिकैत के इस कार्य को गलत बताया है, उन्होंने ट्वीट किया है कि, ये सही नहीं है। हम  खुद सक्षम हैं, कोई तीसरा चौधरी क्यों बने?

इसी प्रकार दूसरे ट्विटर यूजर ने तीखी टिप्पणी की है। जिसमें राकेश टिकैत को दलाल करार दिया है।

एक ट्विटर यूजर ने घोड़े पर चढ़े नेता को दिखाया है, जो कांग्रेस नेता राहुल गांधी जैसा प्रतीत होता है।

सी.बी शुक्ला नामक एक एक यूजर ने लिखा है, कृषि कानून किसानों के लिए है, राकेश टिकैत किसानों का प्रतिनिधित्व नहीं कर रहे हैं, बल्कि वे उन बिचौलियों का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं जो मोटा कमीशन लेते हैं। यह पूरी तरह से राजनीति से प्रेरित प्रदर्शन है, जिसे विपक्षी राजनीतिक पार्टियों ने मोदी की छवि धूमिल करने के लिए चलाया है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here